वाराणसी में बढ़ रहा प्रदूषण का ग्राफ:वाराणसी का एयर क्वालिटी इंडेक्स 111पर पहुंचा, प्रो श्रीवास्तव ने जल्द शुरू हो सकती है ठंड

वाराणसीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में तेज धूप की वजह से गर्मी काफी बढ़ गई है। - Dainik Bhaskar
वाराणसी में तेज धूप की वजह से गर्मी काफी बढ़ गई है।

वाराणसी में आज तेज धूप के साथ हल्की हवा बह रही है। आसमान साफ होने से धूप काफी चमकदार और गर्मी का एहसास करा रही है। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार वाराणसी की हवा में नमी 90 फीसदी तक दर्ज की गई है। इससे दोपहर तक उमस भी बढ़ सकती है। एक और संकट वाराणसी को तेजी से अपनी गिरफ्त में लेते जा रहा है। वह है हवा का प्रदूषण। मानसून के जाते ही चारों ओर हवा में प्रदूषण और धूल मिट्टी का अंबार लगा हुआ है। नगर निगम और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के टैंकर भी अब कभी पानी का छिड़काव करते नहीं दिखते। स्थिति यही रही तो यह जाड़े के दिनों में यह हवा दमघोंटू वातावरण में तब्दील हो जाएगी।

वाराणसी में सामनेघाट से लेकर लंका, सुंदरपुर से नरिया, भिखारीपुर से चितईपुर, अर्दली बाजार से महावीर मंदिर, अस्सी से गौदौलिया और चौक से मैदागिन तक केवल और केवल धूल और मिट्टी ही उड़ती नजर आएगी। इससे बचने के लिए जिला प्रशासन के पास कोई उपाय नहीं है।

BHU के ट्रॉमा सेंटर के बाहर धूल मिट्टी का अंबार लगा हुआ है।
BHU के ट्रॉमा सेंटर के बाहर धूल मिट्टी का अंबार लगा हुआ है।

7 किलाेमीटर प्रति घंटे की गति से बह रही हवा

आज का औसत तापमान 27 डिग्री सेल्सियस, अधिकतम 33 डिग्री और न्यूनतम 24 डिग्री सेल्सियस पर दर्ज किया गया। वहीं 7 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा बह रही है।काशी हिंदू विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक प्रोफेसर मनोज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि जाड़े के लिए अब ज्यादा दिन तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। मानसूनी हवा का इफेक्ट थोड़ा लेट तक रह गया, नहीं तो अब तक पछुआ हवा जोर पकड़ लेती। प्रोफेसर श्रीवास्तव ने कहा कि अब पछुआ हवा चलने लगी है। जल्द ही यह हिमालयी बर्फीली पहाड़ियों से होकर बहेगी तो ठंड बढ़ाएगी। वर्तमान स्थिति के अनुसार जो सूखी हवा बह रही है वह पश्चिम से आ रही है।

वाराणसी में सामनेघाट के इलाके में रात में धूल की वजह से कुछ इस तरह अंधेरा हो जाता है।
वाराणसी में सामनेघाट के इलाके में रात में धूल की वजह से कुछ इस तरह अंधेरा हो जाता है।

तेजी से बढ़ रहा AQI

आज वाराणसी का एयर क्वालिटी इंडेक्स 111 पर पहुंच गया है। वहीं शहर के अलग-अलग स्थानों पर भी यह बढ़ रहा है। अर्दली बाजार में 140 अंक, भेलूपुर में 107 अंक, बीएचयू में 104 और मलदहिया में सबसे कम 94 अंक तक हवा में प्रदूषक की मात्रा दर्ज की गई।

खबरें और भी हैं...