UP में मोदी की चुनावी क्लास:बोले- माइक्रो डोनेशन के लिए बूथों में कॉम्पिटिशन हो, मकसद चंदा जुटाना नहीं, लोगों को जोड़ना है

वाराणसी4 महीने पहले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव की घोषणा के बाद आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बूथ लेवल भाजपा कार्यकर्ताओं से वर्चुअल संवाद किया। मोदी ने कार्यकर्ताओं को चुनाव के लिए मंत्र भी दिए। कहा- हम हर बूथ के अंदर एक कॉम्पिटिशन करें। हम देखना चाहते हैं कि कौन सा पोलिंग बूथ कितना माइक्रो डोनेशन कर सकता है? हमारा मकसद पैसा इकट्‌ठा करना नहीं है, लोगों को जोड़ना है। 15 दिन के भीतर ये कॉम्पिटिशन हो।

मोदी ने कहा कि हमें संगठन का विस्तार करना है और कार्यकर्ता का भी विकास करना है। चुनाव के समय एक-एक वोट की कीमत समझनी है। मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि किसानों को समझाएं कि भाजपा ने उनके लिए क्या-क्या किया? महिलाओं के लिए क्या किया?

मोदी ने कहा कि हम जहां पहुंचे हैं, वहां पहुंचने के लिए तीन पीढ़ियां खप गई है। नमो एप के कमल पुष्प में जनसंघ के नेताओं की बातें हमें रखनी चाहिए। मैं चाहूंगा कि हमारे काशी में जनसंघ के जमाने का एक भी व्यक्ति ऐसा न हो जिस तक हमारी बात न पहुंची हो।

जानिए कार्यकर्ताओं से क्या बात की मोदी ने

पीएम मोदी ने कार्यकर्ता आशुतोष से पूछा कि चुनावी गर्मी कैसी है? जवाब मिला, 'मोदी- योगी की जोड़ी सब पर भारी हैं।' मोदी ने पूछा- क्या ट्रैफिक जाम होता है अब? जवाब मिला- पहले हमें घंटों का समय लगता था, लेकिन अब ऐसा नहीं होता है। जाम से राहत मिली है। बनारस का आपने जितना ध्यान रखा उतना किसी ने नहीं रखा।

दूसरा कॉल श्रवण कुमार रावत का कनेक्ट हुआ। जवाब मिला अब बनारस बदल गया है। गरीबों को रोजगार मिल रहा है। वे सब आपको आशीर्वाद दे रहे हैं। कल मुझे विश्वनाथ धाम का श्रमिक मिला था। उसकी खुशी देखते बन रही थी। वो आपकी तारीफ करते अघाते नहीं।

तीसरा कॉल- सीमा कुमारी से मोदी ने पूछा- कोरोना संक्रमण के दौरान अपने क्षेत्र के लोगों से मिलना जुलना हो पा रहा है? जवाब मिला- दो गज की दूरी से मुलाकात कर रहे हैं। अब तो महिलाओं को न रसोई की धुएं से जूझना पड़ता है न केरोसिन के लिए लाइन लगानी पड़ती है। ये सब आपकी वजह से संभव हुआ है। बोले आप जइसन बहिन के आशीर्वाद हमार असली शक्ति हउअे। मातृशक्ति प्रसन्न हौ ना...?

चौथा कॉल- मनोज कुमार पटेल से पूछा- आप लोग अपने क्षेत्र में गरीब परिवारों की सुध ले रहे हैं या नहीं? जवाब मिला- जवाब- हम टोली बनाकर लोगों से बात करते हैं, उनका हाल लेते हैं। लोग यही बताते हैं कि मुफ्त राशन की उन्हें कल्पना नहीं थी। वे आभार व्यक्त करते हैं। मोदी ने कहा- भाजपा कार्यकर्ता किसानों को जागरूक करते रहें। किसानों को केमिकल मुक्त खेती करने के लिए जरूर समझाएं। मोदी ने 6 कार्यकर्ताओं से बात की।