जुमे की नमाज को लेकर वाराणसी में हाई अलर्ट:ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी केस की सुनवाई के आदेश के बाद एक्टिव मोड में पुलिस

वाराणसी5 महीने पहले
ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी केस की सुनवाई का ऑर्डर आने के बाद आज जुमे की नमाज को लेकर वाराणसी में हाई अलर्ट है।

वाराणसी में ज्ञानवापी-मां श्रृंगार गौरी केस की सुनवाई का कोर्ट का ऑर्डर आने के बाद आज पहला जुमा यानी शुक्रवार है। जुमे की नमाज लेकर वाराणसी में शहर से लेकर देहात तक हाई अलर्ट है। मिश्रित आबादी वाले जिले के संवेदनशील इलाकों में पुलिस-पीएसी के जवानों के साथ ही LIU को तैनात किया गया है।

गोदौलिया से मैदागिन मार्ग पर सुबह ही पुलिस तैनात की गई है। मिश्रित आबादी वाले संवेदनशील इलाकों में भी सुबह से ही फोर्स तैनात है।
गोदौलिया से मैदागिन मार्ग पर सुबह ही पुलिस तैनात की गई है। मिश्रित आबादी वाले संवेदनशील इलाकों में भी सुबह से ही फोर्स तैनात है।

ज्ञानवापी के इर्दगिर्द निगरानी की विशेष व्यवस्था

तीन स्तरीय सुरक्षा घेरे में रहने वाले ज्ञानवापी परिसर के आसपास के एक किलोमीटर के दायरे में निगरानी की विशेष व्यवस्था की गई है। ज्ञानवापी परिसर के आसपास की गलियों में भी पुलिस तैनात की गई है।

चौक, दशाश्वमेध, लक्सा और कोतवाली थाने के थानेदार को अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए फोर्स के साथ लगातार मूवमेंट करते रहने के लिए पुलिस आयुक्त ने कहा है। जिस किसी की भी गतिविधि संदिग्ध प्रतीत हो उससे तत्काल पूछताछ करने के लिए ताकीद की गई है।

पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने कहा है कि जिस किसी की भी गतिविधि संदिग्ध प्रतीत हो उससे पूछताछ में देरी ना की जाए।
पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने कहा है कि जिस किसी की भी गतिविधि संदिग्ध प्रतीत हो उससे पूछताछ में देरी ना की जाए।

फोर्स अलर्ट होकर ड्यूटी करे : पुलिस आयुक्त

पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने कहा कि पितृ पक्ष चल रहा है। इसके चलते श्रद्धालुओं की आवाजाही शहर में आम दिनों की अपेक्षा कुछ ज्यादा ही है। इसी हफ्ते ज्ञानवापी प्रकरण में भी कोर्ट ने अपना आदेश सुनाया है।

इसलिए सभी चौकी इंचार्ज, थानेदार और एसीपी को अलर्ट होकर ड्यूटी करने के लिए कहा गया है। दोनों जोन के डीसीपी और एडीसीपी को भी फील्ड में सक्रिय रह कर मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया गया है।