लाखों के काजू की लूट और हत्या में वांछित गिरफ्तार:वाराणसी कमिश्नरेट की पुलिस ने बदमाश को दबोचा; अब तक 3 आरोपी भेजे गए जेल

वाराणसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रक चालक की हत्या और लाखों रुपए मूल्य के काजू लूटने के मामले में गिरफ्तार किया गया आरोपी। - Dainik Bhaskar
ट्रक चालक की हत्या और लाखों रुपए मूल्य के काजू लूटने के मामले में गिरफ्तार किया गया आरोपी।

वाराणसी में नेशनल हाईवे पर लाखों रुपए मूल्य का काजू लदा हुआ ट्रक लूट कर चालक की हत्या के मामले में वांछित एक और बदमाश बुधवार को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार बदमाश की शिनाख्त भदोही जिले के दुर्गागंज थाना अंतर्गत छिनौरा निवासी धर्मेंद्र कुमार बिंद उर्फ धोनी के तौर पर हुई है। उसके पास से एक तमंचा और एक कारतूस बरामद हुआ है। धर्मेंद्र के खिलाफ हत्या सहित अन्य आरोपों में 5 मुकदमे दर्ज हैं। उसे अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया। बता दें कि धर्मेंद्र से पहले इस वारदात में 2 और बदमाश गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

1 जनवरी को वारदात को दिया गया था अंजाम

चोलापुर थाना अंतर्गत कटारी निवासी ओमप्रकाश आंध्र प्रदेश से ट्रक पर काजू लाद कर गोरखपुर के लिए निकला था। वाराणसी में डाफी बाईपास पार करने के बाद लंका थाना अंतर्गत नुआंव में ओमप्रकाश को उसका पुराना परिचित छिनौरा निवासी अमृत लाल यादव मिला। अमृत लाल के साथ उसके दोस्त छनौरा निवासी पवन गौड़, राजेश बिंद उर्फ खेतई और धर्मेंद्र कुमार बिंद उर्फ धोनी भी थे।

सभी ने जमकर शराब पी और ओमप्रकाश जब ट्रक में बैठा तो उसे नीचे धकेल दिया। फिर, ट्रक के पहिये से ओमप्रकाश को कुचल कर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद चारों लोग ट्रक लूट कर भदोही की ओर भाग गए। वारदात की सूचना पाकर भदोही जिले की पुलिस भी सक्रिय हुई और अमृत लाल को गिरफ्तार कर ली। राजेश बिंद को भी भदोही जिले की पुलिस ने ही गिरफ्तार किया।

डीसीपी काशी जोन आरएस गौतम ने बताया कि लंका इंस्पेक्टर वेद प्रकाश राय और क्राइम ब्रांच के दरोगा बृजेश कुमार मिश्रा की टीम धर्मेंद्र और पवन की तलाश में लगी हुई थी। सूचना मिली कि धर्मेंद्र मलहिया के पास अपने किसी परिचित से मुलाकात करने आया है तो घेरेबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में धर्मेंद्र ने बताया कि वह अृमत लाल की बातों में आकर हत्या और लूट की घटना में शामिल हुआ था।