BHU के कॉर्डियोलॉजिस्ट पर केस:प्रो. ओम शंकर पर भगवान परशुराम के अपमान का आरोप; वाराणसी पुलिस ने शुरू की जांच

वाराणसी18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रो. ओम शंकर। - Dainik Bhaskar
प्रो. ओम शंकर।

वाराणसी स्थित काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के सर सुंदरलाल अस्पताल के कॉर्डियोलॉजिस्ट प्रो. ओम शंकर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। भगवान परशुराम के लिए सोशल मीडिया पर अपमानजनक पोस्ट करने के आरोप में लंका थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। यह कार्रवाई रत्नाकर विहार कॉलोनी निवासी अधिवक्ता सौरभ तिवारी की तहरीर पर की गई है। लंका थाने की पुलिस ने प्रकरण की जांच शुरू कर दी है।

फेसबुक पोस्ट को लेकर की थी शिकायत

अधिवक्ता सौरभ तिवारी के अनुसार, प्रोफेसर ओम शंकर ने बीती पांच जनवरी को अपनी फेसबुक वॉल पर दो ऐसी पोस्ट की, जिसमें भगवान परशुराम को हत्यारा संबोधित किया गया था। हिंदू धर्मग्रंथों के अनुसार, भगवान परशुराम भगवान विष्णु के छठवें अवतार माने जाते हैं। वह सनातनधर्मियों के लिए पूज्यनीय हैं।

प्रो. ओम शंकर ने फेसबुक पोस्ट में यह भी लिखा है कि पौराणिक हत्यारे और आधुनिक हत्यारे नाथूराम गोडसे में कोई फर्क नहीं है। जो लोग परशुराम की वकालत करते हैं, वही गोडसे को पूजने की बात भी करते हैं।

सामने आए तथ्यों के आधार पर करेंगे कार्रवाई

इस संबंध में इंस्पेक्टर लंका वेद प्रकाश राय ने बताया कि सौरभ तिवारी की तहरीर के आधार पर प्रो. ओम शंकर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और सूचना प्रौद्योगिकी (संशोधन) अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। मुकदमे की जांच शुरू कर दी गई है। जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...