• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Resolve To Plant A Sapling With Pind Daan, Mahant Of Sankat Mochan Temple In Varanasi Prof. VN Mishra Said Ancestors Will Be Happy; Environment Will Be Safe

पिंडदान के साथ एक पौधा लगाने का संकल्प:काशी के संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. वीएन मिश्र बोले- खुश होंगे पूर्वज; पर्यावरण रहेगा सुरक्षित

वाराणसी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तुलसी घाट पर लोगों ने पितृ पक्ष में पूर्वजों की स्मृति में एक पौधा लगाने का संकल्प लिया। - Dainik Bhaskar
तुलसी घाट पर लोगों ने पितृ पक्ष में पूर्वजों की स्मृति में एक पौधा लगाने का संकल्प लिया।

पितृ पक्ष में पिंडदान के साथ पूर्वजों की स्मृति में एक पौधा लगाने की मुहिम काशी में इस वर्ष भी जारी है। रविवार को तुलसी घाट पर संकट मोचन मंदिर के महंत और IIT-BHU के प्रो. विशंभर नाथ मिश्र ने कहा कि धरती हरी भरी रहेगी तो हमारे पूर्वज खुश रहेंगे और हमारा पर्यावरण भी सुरक्षित रहेगा। BHU के सोशल साइंस फैकल्टी के प्रो. कौशल किशोर मिश्रा ने कहा कि हम सभी को अपने पूर्वजों के पिंडदान के साथ ही उनकी स्मृति में एक पौधा पितृ पक्ष में जरूर लगाना चाहिए।

सोशल साइंस फैकल्टी के प्रो. कौशल किशोर मिश्र और संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विशंभर नाथ मिश्र (दाएं से बाएं) के साथ पौधरोपण की मुहिम में शामिल अन्य लोग।
सोशल साइंस फैकल्टी के प्रो. कौशल किशोर मिश्र और संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विशंभर नाथ मिश्र (दाएं से बाएं) के साथ पौधरोपण की मुहिम में शामिल अन्य लोग।

देवरिया से आकर बांटे 51 पौधे

काशी में पितृ पक्ष में पौधरोपण की मुहिम जागृति फाउंडेशन द्वारा चलाई जाती है। रविवार को देवरिया जिले के पिपरा मिश्र गांव निवासी अरविंद मिश्र ने अपने पिता महादेव मिश्र की स्मृति में 51 पौधों का वितरण किया। प्रो. विशंभर नाथ मिश्र ने कहा कि काशी को कभी आनंद वन कहा जाता था।

इसके पीछे की वजह यहां की हरियाली थी। काशी कंक्रीट के जंगल में तब्दील होती जा रही है। इसी वजह से पर्यावरण का संतुलन बिगड़ गया है। पर्यावरण का संतुलन बना रहे, इसके लिए हमें सामूहिक प्रयास करना होगा।

आज तुलसी घाट पर 51 पौधे वितरित कर लोगों को पूर्वजों की स्मृति में पौधरोपण के लिए प्रेरित किया गया।
आज तुलसी घाट पर 51 पौधे वितरित कर लोगों को पूर्वजों की स्मृति में पौधरोपण के लिए प्रेरित किया गया।

हमारा यह अभियान जारी रहेगा

जागृति फाउंडेशन के रामयश मिश्र ने कहा कि इस अभियान के माध्यम से हम प्रत्येक वर्ष गंगा घाटों पर पिंडदान के लिए आने वाले लोगों को पौधरोपण के लिए प्रेरित करते हैं। हमारा यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। हमारी सभी से यही अपील है कि पितृ पक्ष में अपने पूर्वजों की स्मृति में एक पौधा जरूर लगाएं। इस दौरान तुलसी घाट पर मौजूद प्रभुदत्त त्रिपाठी, हेमंत त्रिपाठी, मदन गोपाल , राघवेंद्र पांडे और सत्यांशु जोशीव ने ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण कराने का संकल्प लिया।

खबरें और भी हैं...