• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Rumors About Stealing A Child And Removing Kidney, Varanasi Rural Police Said Will Take Action Against Those Who Share Misleading Videos On Social Media

बच्चा चुरा कर किडनी निकालने की बात अफवाह:वाराणसी ग्रामीण पुलिस ने कहा- भ्रामक वीडियो शेयर करने वालों पर करेंगे कार्रवाई

वाराणसीएक महीने पहले
सूर्यकांत त्रिपाठी, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण।

बच्चों को चुरा कर उनकी किडनी निकालते हुए कुछ साधुओं के वीडियो शेयर कर सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि वह वाराणसी के बड़ागांव थाना के बीरापट्‌टी गांव का है।

जांच के बाद मंगलवार को वाराणसी ग्रामीण पुलिस ने कहा कि बच्चा चुरा कर किडनी निकालने से संबंधित बातें अफवाह हैं। ऐसे भ्रामक वीडियो शेयर करने वालों के खिलाफ पुलिस आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करेगी।

वाराणसी ग्रामीण पुलिस द्वारा आमजन के लिए जारी की गई अपील।
वाराणसी ग्रामीण पुलिस द्वारा आमजन के लिए जारी की गई अपील।

1 सितंबर को इंदवार गांव में रोके थे

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सूर्यकांत त्रिपाठी ने बताया कि बीती 1 सितंबर को इंदवार गांव में भिक्षा मांग रहे कुछ साधुओं पर ग्रामीणों ने शक जताया था। उनका कहना था कि वह लोग साधु नहीं बल्कि बच्चा चुराने वाले गिरोह से संबंधित हैं। ग्रामीणों की शंका के आधार पर सभी साधुओं के संबंध में विस्तार से पड़ताल की गई।

जांच में सामने आया कि वह बच्चा चुराने वाले गिरोह के लोग नहीं हैं और उनका काम घूम कर भिक्षाटन करना है। इसी बीच सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर लोग वीडियो शेयर करने लगे कि बीरापट्‌टी गांव में बच्चा चुरा कर कुछ साधु उनकी किडनी निकाल रहे थे। यह पूरी तरह से निराधार और अफवाह है।

अफवाह फैलाने वाले के बारे में पुलिस को बताएं

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने कहा कि हमारी सोशल मीडिया सेल लगातार मॉनिटरिंग कर रही है। सोशल मीडिया पर जो कोई भी इस तरह के भ्रामक वीडियो शेयर करेगा और अफवाह फैलाएगा, उसके खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने लोगों से अपील की है कि वो सोशल वीडियो पर प्रसारित किसी भी अफवाह या फर्जी वीडियो के झांसे में ना आएं। यदि कोई अफवाह फैलाता हुआ या फिर भ्रामक बातों का प्रचार-प्रसार करता हुआ दिखे तो उसकी सूचना अपने नजदीकी थाने की पुलिस को दें। सूचना देने वाले का नाम और पता गुप्त रख कर अफवाह फैलाने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...