पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान आंदोलन का समर्थन:वाराणसी में कृषि कानून को लेकर सरदार सेना और किसानों का प्रदर्शन, पुलिस ने सौ से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया

वाराणसी5 महीने पहले
सरदार सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाँ आरएस पटेल के नेतृत्व में किसान और कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे।
  • पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच तीखी झड़प भी हुई
  • बिना अनुमति के यात्रा शहर में प्रवेश कर रहा था

सरदार सेना के कार्यकर्ता और सैकड़ों की संख्या में किसान चंदौली से रविवार को किसान सत्याग्रह यात्रा करते हुए वाराणसी पहुंचे। MSP गारंटी खरीदी कानून की मांग को लेकर PM मोदी के जवाहर नगर स्थित संसदीय जनसंपर्क कार्यालय में ज्ञापन देने जा रहे थे। कई थानों की फोर्स, PAC ने भगवानपुर - ट्रामा सेंटर मार्ग पर सभी को रोक दिया। मौके पर पहुंचे SSP अमित पाठक, SP CITY विकास चंद्र त्रिपाठी के समझाने के बाद भी सरदार सेना के लोग मान नही रहे थे। वही सभी धरने पर बैठ गये। आक्रोश बढ़ता देख पुलिस ने सौ से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेज दिया।

सरदार सेना की ओर से कार्यक्रम को रखा गया था

चंदौली - वाराणसी समेत आस पास के जिलों से भी कुछ किसान शामिल हुए थे। सरदार सेना के अध्यक्ष आरएस पटेल ने कहा MSP गारंटी खरीदी कानून की मांग को लेकर हम सभी अपने सांसद नरेंद्र मोदी के जनसंपर्क कार्यालय जा रहे थे। बीच रास्ते में किसानों ,उनके घर वालो को रोक दिया गया। आगे अगर हमारी मांग नही मानी गयी तो भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।

किसानों और कार्यकर्ताओं की भीड़ को देखकर भगवानपुर मार्ग को पुलिस द्वारा बंद किया गया था।
किसानों और कार्यकर्ताओं की भीड़ को देखकर भगवानपुर मार्ग को पुलिस द्वारा बंद किया गया था।

किसान सत्याग्रह यात्रा के बैनर पर दिल्ली चलो का नारा

वही इतनी बड़ी संख्या में किसानों और सरदार सेना के कार्यकर्ताओं का जिले के सीमा में प्रवेश कर जाना खुफिया तंत्र की भी नाकामी बता रहा है। SSP अमित पाठक ने बताया बिना अनुमति ये लोग मार्च निकाल रहे थे। सौ से ज्यादा प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी हुई है। बाकी लोगो को भी चिन्हित किया जा रहा है। कार्रवाई किया जा सकता है।

किसान सत्याग्रह यात्रा में दर्जनों महिलाएं भी शामिल थी।
किसान सत्याग्रह यात्रा में दर्जनों महिलाएं भी शामिल थी।