पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंदौली में ओलंपिक खिलाड़ी से पीएम मोदी ने की बात:टोक्यो ओलंपिक में चयनित हुए शिवपाल से पीएम मोदी ने पूछा- महामारी के दौरान कैसे की तैयारियां

चंदौली21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री ने टोक्यो ओलंपिक्स में सेलेक्ट हुए खिलाड़ियों से की बातचीत, सभी को किया प्रोत्साहित। - Dainik Bhaskar
प्रधानमंत्री ने टोक्यो ओलंपिक्स में सेलेक्ट हुए खिलाड़ियों से की बातचीत, सभी को किया प्रोत्साहित।

उत्तर प्रदेश के चंदौली के रहने वाले शिवपाल सिंह टोक्यो ओलंपिक में चयनित हुए है। इस खबर से खिलाड़ी के परिवार व ग्रामीण बेहद खुश है। उनकी खुशी तब दोगुनी हो गई जब मंगलवार को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उन तमाम खिलाड़ियों से बातचीत की जो हिंदुस्तान से ओलंपिक्स में चयनित हुए है। इस बातचीत के दौरान शिवपाल के गांव के लोग हाथों में तिरंगा लिए दिखाई दिए। हालांकि, कुछ कारणों से शिवपाल की बातचीत नहीं हो सकी।

भाला फेंक में हुनर दिखाएंगे शिवपाल

धनापुर ब्लाक क्षेत्र के हिंगुतरगढ़ गांव के निवासी है शिवपाल सिंह। जो कि टोक्यो में होने वाले ओलंपिक्स में भाला फेंकने में हिस्सा लेंगे। उनके इस चयन से जिले में भी लोग काफी खुश है। उन्हें उम्मीद है कि उनके क्षेत्र का निवासी देश का गौरव बढ़ाएगा।

प्रधानमंत्री का संबोधन व बातचीत सुनने के दौरान हाथों में तिरंगा लेकर बैठे दिखे ग्रामीण।
प्रधानमंत्री का संबोधन व बातचीत सुनने के दौरान हाथों में तिरंगा लेकर बैठे दिखे ग्रामीण।

हाथों में तिरंगा लेकर नजर आए ग्रामीण

मंगलवार की शाम 5 बजे पीएम मोदी देश से ओलंपिक्स में जाने वाले खिलाड़ियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े। इस दौरान हिंगुतरगढ़ में लोग हाथों में तिरंगा लेकर पीएम का संबोधन और बातचीत सुनते नजर आए। पीएम खिलाड़ियों से यह जानने की कोशिश करते दिखे कि उन लोगों ने महामारी के बीच अपनी तैयारियों पर ध्यान कैसे दिया। उन्होंने सभी प्लेयर्स को प्रोत्साहित किया और अंत में खिलाड़ियों व उनके परिजनों का धन्यवाद किया। गांव वाले इस आस में थे कि कब पीएम से शिवपाल की बात होगी। हालांकि, किसी कारण के चलते उनकी बात नहीं हो पाई।

पिता ने कहा- मेरा बेटा जो ठान लेता है, वह कर के ही मानता है

शिवपाल सिंह के पिता रामाश्रय सिंह ने पीएम के इस कार्यक्रम की जमकर तारीफ की। उन्होनें बताया कि उनका बेटा चैंपियनशीप जीतकर जरूर लाएगा। राष्ट्र की शान व मान को बढ़ाएगा। क्योंकि वह जिस कार्य को ठान लेता है, उसे पूरा करके ही दम लेता है।

खबरें और भी हैं...