पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंडित राजन मिश्रा कोविड अस्पताल में हंगामा:सफाई कर्मियों ने पैसा देने में मनमानी का आरोप लगाकर किया प्रदर्शन, 430 रुपए हर दिन दिहाड़ी पर शांत हुए

वाराणसी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल के बाहर प्रदर्शन करते सफाईकर्मी। - Dainik Bhaskar
अस्पताल के बाहर प्रदर्शन करते सफाईकर्मी।

वाराणसी के BHU परिसर में DRDO द्वारा बनाए गए पंडित राजन मिश्रा अस्थायी कोविड हॉस्पिटल के सफाई कर्मचारी रविवार की सुबह प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी करने लगे। सभी का आरोप था कि काम के बदले जो पैसा देने को कहा गया था, अब वह नहीं दिया जा रहा है। विरोध करने पर काम से हटा दिया जा रहा है। सूचना पाकर बीएचयू और जिला प्रशासन के अधिकारी सभी को समझा-बुझाकर शांत कराने में जुटे हुए थे। आखिरकार 430 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से तीन शिफ्ट में सभी को काम पर रखने का आश्वासन दिया गया तो सफाई कर्मियों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया।

18 हजार देने को कहा गया था, अब 9 हजार दे रहे

प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों का कहना था कि जब काम पर रखा गया था तो 18 हजार रुप, प्रतिमाह देने की बात तय हुई थी। फिर कहा गया कि 12 हजार रुपए देंगे। इसका विरोध किया गया तो कुछ लोगों को काम से हटा दिया गया। अब 9 हजार रुपये देने की बात कही जा रही है। यहां रात में रुकने की व्यवस्था भी नहीं है। महिला सफाई कर्मचारियों को भी रात में घर जाने को कह दिया जाता है। 30-40 किलोमीटर दूर रहने वाले लोग और खासतौर से महिलाएं कहां जाएं। काम में आने पर 10-15 मिनट की देरी हो जाती है तो धक्का मार कर बाहर निकाल दिया जाता है। हम लोग जिंदगी दांव पर लगा कर काम कर रहे हैं और यहां हमारी मेहनत का सही मूल्य देने के बजाय मनमानी की जा रही है।

अधिकारियों ने साधी चुप्पी, बोले- सुलझ जाएगा मामला

हंगामे की सूचना पाकर जिला प्रशासन और बीएचयू के अफसर मौके पर पहुंचे। सेना के अफसर भी खड़े थे। अधिकारियों से सवाल पूछा गया तो सभी का कहना था कि पत्रकार यहां से चले जाएं। कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। सबको समझा-बुझाकर शांत करा कर उनकी समस्या का समाधान करा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...