पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

5 माह बाद मिले मुंशीजी के 2 पंखे:वाराणसी में उपन्यास सम्राट प्रेमचंद के पैतृक घर में हुई थी चोरी, 1 आरोपी गिरफ्तार; अदालत में पेश कर भेजा गया जेल

वाराणसी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लमही स्थित मुंशी प्रेमचंद के पैतृक आवास से चुराए गए 2 पंखों के साथ गिरफ्तार आरोपी। - Dainik Bhaskar
लमही स्थित मुंशी प्रेमचंद के पैतृक आवास से चुराए गए 2 पंखों के साथ गिरफ्तार आरोपी।

वाराणसी के लमही स्थित उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचंद के पैतृक आवास से चोरी हुए 5 सीलिंग फैन की घटना का पुलिस ने 5 माह बाद रविवार को पटाक्षेप किया। मुंशी प्रेमचंद के घर से चोरी हुए 5 सीलिंग फैन में से 2 को पुलिस ने बरामद करने का दावा किया है। पुलिस के अनुसार शेष 3 अन्य पंखे आरोपी ने कबाड़ी को बेंच दिया है। गिरफ्त में आए आरोपी की शिनाख्त लमही निवासी 22 वर्षीय ग्यासुद्दीन उर्फ राजू के तौर पर हुई है। राजू को लालपुर पांडेयपुर थाने की पुलिस ने अदालत में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

13 अप्रैल को दर्ज किया गया था मुकदमा

लमही स्थित मुंशी प्रेमचंद स्मारक की देखरेख करने वाले सुरेश चंद्र दुबे ने बीती 13 अप्रैल को लालपुर पांडेयपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। सुरेश चंद्र दुबे ने पुलिस को बताया था कि मुंशीजी के पैतृक आवास का पूर्वी दरवाजा खोल कर कोई 5 सीलिंग फैन चुरा ले गया है। इसे लेकर हिंदी साहित्य प्रेमियों और काशी के संभ्रांत लोगों ने नाराजगी भी जताई थी। पुलिस चोरी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की लेकिन उसे तब सफलता नहीं मिली थी।

सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से मिली मदद

लालपुर चौकी प्रभारी ईशचंद यादव ने बताया कि उन्होंने मुंशी प्रेमचंद स्मारक के आसपास के क्षेत्र में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। इसके साथ ही सर्विलांस की मदद ली। इलाके के लोगों से पूछताछ करके भी जानकारी जुटाई गई। जब सभी जगह से पुष्टि हो गई कि पंखे लमही का राजू ही चुराया है तो उसे पकड़ कर पूछताछ शुरू की गई।

राजू ने शुरू में उलझाने की कोशिश की लेकिन सख्ती के बाद वह स्वीकार कर लिया कि मुंशी प्रेमचंद स्मारक से पंखे उसी ने चुराए थे। उसने बताया कि 3 पंखे वह कबाड़ी को बेच दिया था और 2 घर में बेचने के लिए रखा हुआ था। राजू की निशानदेही पर मुंशी प्रेमचंद स्मारक से चोरी हुए दोनों पंखे बरामद कर लिए गए।

खबरें और भी हैं...