सॉल्वर गैंग के सरगना को लेकर पटना पहुंची पुलिस:वाराणसी में NEET परीक्षा में हुआ था धांधली का प्रयास, 3 आरोपियों की तलाश में दबिश

वाराणसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सॉल्वर गैंग के सरगना नीलेश सिंह उर्फ PK को लेकर पुलिस गुरुवार को पटना पहुंची। - Dainik Bhaskar
सॉल्वर गैंग के सरगना नीलेश सिंह उर्फ PK को लेकर पुलिस गुरुवार को पटना पहुंची।

वाराणसी में NEET-UG (मेडिकल प्रवेश परीक्षा) में धांधली का प्रयास करने वाले सॉल्वर गैंग के सरगना को लेकर गुरुवार को पुलिस पटना पहुंची। सॉल्वर गैंग का सरगना नीलेश सिंह उर्फ प्रेम कुमार उर्फ PK 20 से 26 नवंबर तक पुलिस कस्टडी रिमांड पर है। पुलिस ने पटना में उसके सहयोगी 1 डॉक्टर समेत 3 आरोपियों की तलाश में 11 जगह छापा मारा। लेकिन उनका पता नहीं लगा। पुलिस के अनुसार, PK की गिरफ्तारी के बाद उसके गिरोह के सभी सदस्य अंडरग्राउंड हो गए हैं।

पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने दैनिक भास्कर को बताया कि PK से पूछताछ में कई अहम जानकारियां हाथ लगी हैं। फिलहाल हमारा फोकस उसके गिरोह के प्रमुख सदस्यों की गिरफ्तारी पर है। बिहार, बंगाल, त्रिपुरा और यूपी में उसके सहयोगी के तौर पर जिन्होंने भी गलत काम किया है, वे बच नहीं पाएंगे। एक-एक कर सबको गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। इसके लिए कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच समेत 5 टीमें बनाई गई हैं। ये टीमें यूपी, बिहार, बंगाल और त्रिपुरा में PK के सहयोगियों की धरपकड़ के लिए दबिश दे रही हैं।

पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने बताया कि PK से पूछताछ में कई अहम जानकारियां हाथ लगी हैं।
पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने बताया कि PK से पूछताछ में कई अहम जानकारियां हाथ लगी हैं।

अब तक 3 राज्यों के 11 आरोपी हुए गिरफ्तार

सारनाथ क्षेत्र स्थित एक स्कूल में 12 सितंबर को NEET-UG परीक्षा के दौरान सॉल्वर गैंग की साजिश का पता चला था। त्रिपुरा की हिना बिश्वास की जगह परीक्षा देते हुए क्राइम ब्रांच ने BHU की बीडीएस की छात्रा जूली कुमारी को गिरफ्तार किया था। उसके बाद बिहार, त्रिपुरा और यूपी से अब तक 11 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। जबकि हिना बिश्वास समेत अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। पुलिस अब PK और उसके गिरोह के लोगों पर गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई कर रही है। साथ ही इस गैंग को भी पुलिस रिकॉर्ड में रजिस्टर्ड करने की तैयारी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...