शहर के 24 नुक्कड़ों पर सावरकर स्पेशल नाटकों की सीरीज:आज वाराणसी के 8 स्थानों पर दामोदर के स्वतंत्रता संघर्ष पर होंगे सामूहिक अभिनय

वाराणसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भदैनी घाट पर नुक्क्ड़ नाटक का मंचन करते कलाकार - Dainik Bhaskar
भदैनी घाट पर नुक्क्ड़ नाटक का मंचन करते कलाकार

वाराणसी की गलियों, सड़कों, घाटों, मंदिरों और पार्कों में वीडी सावरकर की जीवनी पर आधारित नाटकों को खूब सराहा जा रहा है। 24 नुक्कड़ों पर नाटकों की इस सीरीज को खासा पसंद किया जा रहा है। आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर वाराणसी में युवा कलाकारों द्वारा पूरे शहर में इस नुक्कड़-नाटक की शुरूआत की गई है। स्वाधीनता के अमृत महोत्सव के मौके पर सावरकर की स्वतंत्रता संघर्ष से जुड़ी हर कहानियां अभिनय के माध्यम से व्यक्त की जा रहीं हैं। इन नाटकों ने शहर भर के लोगों का ध्यान भी आकर्षित किया है।

कंपनी गार्डन में नुक्कड़ नाटक का मंचन करते कलाकार
कंपनी गार्डन में नुक्कड़ नाटक का मंचन करते कलाकार

सावरकर की कथाओं पर आज 8 प्रस्तुतियां पूरे शहर में होंगी। इसमें सारनाथ चौराहा, पहाड़िया चौराहा, पांडेयपुर चौराहा, राजघाट, प्रह्लाद घाट, नंदेश्वर घाट, त्रिलोचन घाट, गाय घाट शामिल हैं। वहीं नाटक की 3 प्रस्तुतियां शुक्रवार रात रानी अहिल्याबाई होलकर घाट, राजेंद्र प्रसाद घाट और दशाश्वमेध घाट पर भारत माता की आरती के साथ पूरी हुईं। अभी तक वाराणसी में 28 नवंबर को नाटक की 4 प्रस्तुतियां ब्रह्माघाट, अस्सी घाट, चेतसिंह घाट और केदार घाट दी गईं। उसके बाद 5 दिसंबर को कुल 9 प्रस्तुतियां भारतेंदु उद्यान ( कंपनी गार्डन ), मैदागिन चौराहा, बुलेटन चौराहा (पियरी), कालभैरव मंदिर चौराहा, अग्रसेन महाजनी विद्यालय (चौखंबा), रीवा घाट, भदैनी घाट, प्रभु घाट, मुंशी घाट पर आयोजित हुईं।

संगठनों के साथ हो रहा यह कार्यक्रम

सांस्कृतिक, राजनैतिक और सामाजिक संगठनों के लोगों को शामिल करते हुए वाराणसी के बनारस यूथ थिएटर द्वारा यह आयोजन किया जा रहा है। शहर के हर कोने में सभाएं, गोष्ठियां और तिरंगा यात्रा जैसे कार्यक्रम भी हो रहे हैं। बनारस यूथ थिएटर के प्रमुख उत्कर्ष उपेन्द्र सहस्रबुद्धे ने बताया कि उनकी टीम पूरे शहर में स्वातंत्र्य वीर विनायक दामोदर सावरकर के जीवन पर नुक्कड़-नाटक की सीरीज शुरू किया है। इससे लोगों के मन में सावरकर के प्रति जो भी भ्रांतियां आईं हैं उन्हें दूर किया जा रहा है। इस नाटक की स्क्रिप्ट राइटिंग और डायरेक्शन की जिम्मेदारी वे खुद संभाल रहे हैं।

ये युवा हैं शामिल

उत्कर्ष ने बताया कि उनकी टीम में देश भर के कई ख्यात युवा कलाकार हैं। जो कि बिना किसी आर्थिक प्रोत्साहन के ही काम कर रहे हैं। उनकी टीम में अमित गुप्ता, अमन यादव, हेमंत वर्मा, चांद महल इब्राहिम, विनायक पाण्डेय, काजल सोनी, राजमोहन उपाध्याय, अंजलि गुप्ता, श्रीमांशु गुप्ता और अतुल पाठक शामिल हैं।