मकर संक्रांति पर वृद्ध, गर्भवती महिलाएं, बच्चे रहें सतर्क:कोविड संक्रमण को देखते हुए 14-15 जनवरी को सावधानी बरतने की डीएम ने की अपील

वाराणसी8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर डीएम कौशल राज शर्मा ने चिंता जाहिर की है। उन्होंने 14-15 जनवरी को मकर संक्रांति स्नान और माघ मेला पर विशेष सतर्कता बरतने की आम जनता से अपील की है। - Dainik Bhaskar
कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर डीएम कौशल राज शर्मा ने चिंता जाहिर की है। उन्होंने 14-15 जनवरी को मकर संक्रांति स्नान और माघ मेला पर विशेष सतर्कता बरतने की आम जनता से अपील की है।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर डीएम कौशल राज शर्मा ने चिंता जताई है। उन्होंने 14-15 जनवरी को मकर संक्रांति स्नान और माघ मेला पर विशेष सतर्कता बरतने की आम जनता से अपील की है। इसके साथ ही विशेष सतर्कता और सावधानी बरतने के संबंध में शासन स्तर से जारी आवश्यक दिशा-निर्देश का पालन करने का अनुरोध किया है। डीएम ने कहा कि भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें और सोशल डिस्टेन्सिंग, मास्क का उपयोग करने के साथ ही सैनिटाइजर का प्रयोग अनिवार्य रूप से करें।

वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों को ही अनुमति

डीएम कौशल राज शर्मा ने कहा कि संक्रमण के बढ़ते स्वरूप को देखते हुए मकर संक्रांति स्नान और माघ मेले में उन्हीं व्यक्तियों को अनुमति दी जाएगी, जिन्होंने कोविड वैक्सीन की दोनों डोज ले ली हो। उन्होंने कहा कि विभिन्न बीमारियों से ग्रसित(कोमारबिड) व्यक्ति, वरिष्ठ नागरिक, गर्भवती महिलाएं, बच्चे के अलावा ऐसे व्यक्ति जिनमें कोविड के लक्षण जैसे-खाँसी, जुखाम, बुखार आदि हैं वे मेला या स्नान के लिए लगने वाले भीड़भाड़ वाली जगह पर न जाएं।

मेले में कोविड से सतर्कता को लेकर फैलाएं जागरूकता
डीएम ने कहा कि कर्मचारियों को निर्देश जारी किया गया है कि स्नान/मेले वाले स्थान पर पर्याप्त पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को कोविड के संबंध में जागरूक किया जाए। आम जनमानस को मास्क लगाने, भीड़ एकत्रित न करने के लिए कोविड गाइडलाइंस के अनुपालन के लिए बताया जाए क्योंकि कोविड से बचने का एक ही माध्यम हैं कि हम जागरूक रहें और सतर्क रहें।

सर्दी, खासी और बुखार के लक्षण पर तत्काल करें जांच
डीएम कौशल राज शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि जनपद में जहां मकर संक्रांति का स्नान होना है व मेला लगना है वहां थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। यदि कोई व्यक्ति सर्दी, खासी, जुखाम और बुखार आदि के लक्षण से ग्रसित हो तो वह मेले/स्नान में भाग न ले। ऐसे व्यक्ति के तत्काल आरटीपीसीआर/नाट/एण्टीजन टेस्ट की व्यवस्था कराई जाए। उन्होंने कहा कि जिले में जहां मकर संक्रांति का स्नान होना है और जहां मेले लगने हैं वहां स्वास्थ्य विभाग के साथ डाक्टर्स की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं, जिससे आवश्यकतानुसार तत्काल चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराई जा सके।

साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं
डीएम ने कहा कि मेले/स्नान के स्थान पर नगर विकास, पंचायती राज, ग्राम्य विकास और स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय स्थापित करके साफ-सफाई व सेनेटाइजेशन की व्यवस्था के लिए निर्देश दिया गया है। इसके अलावा कोविड का ओमिक्रॉन वैरिएंट के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए संक्रमण दर को नियंत्रण करने के लिए विभिन्न स्थलों पर विशेष सावधानी और सतर्कता की आवश्यकता है।

खबरें और भी हैं...