15-16 जनवरी को बच्चों के वैक्सीनेशन का महाअभियान:वाराणसी के कमिश्नर बोले- 15 से 18 वर्ष तक का एक भी बच्चा न छूटे

वाराणसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल (बाएं) और डीएम कौशल राज शर्मा (दाएं)। - Dainik Bhaskar
वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल (बाएं) और डीएम कौशल राज शर्मा (दाएं)।

वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बुधवार को कहा कि शासन स्तर से 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन विद्यालयों में जाकर कराने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए 15 और 16 जनवरी को 15 से 18 वर्ष तक के बच्चों के वैक्सीनेशन के लिए महाअभियान चलाया जाएगा। वाराणसी में 3 लाख बच्चों का वैक्सीनेशन कराया जाना है। स्कूलों के अलावा आईटीआई, कोचिंग संस्थान, इंजीनियरिंग और हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूशन सहित ग्रामीण क्षेत्रों के 15 से 18 वर्ष आयु तक के सभी बच्चों का वैक्सीनेशन हर हाल में कराया जाएगा। कोरोना से लड़ाई में वैक्सीनेशन एक अहम हथियार है।

जहां 100 से अधिक बच्चे वहां जाएगी मेडिकल टीम

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों को ब्लॉक स्तरीय कर्मचारियों के सहयोग से सूची तैयार कर वैक्सीनेशन कराया जाए। स्पोर्ट्स क्लब के ऐसे बच्चे जो स्कूलों में इनरोलमेंट नहीं है, उनका भी वैक्सीनेशन कराया जाए। बच्चों के वैक्सीनेशन के लिए स्कूलों में कैंप लगाए जाएंगे। इसके साथ ही सिगरा स्थित डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम, एलटी कॉलेज अर्दली बाजार में विशेष कैंप लगाए जाएंगे। जनपद में 98 से अधिक आईटीआई विद्यालयों में 14 हजार के लगभग बच्चे हैं।

उन विद्यालयों के बच्चों की सूची तैयार कराई जा रही है जिन बच्चों का अब तक वैक्सीनेशन नहीं हो सका है। कमिश्नर ने कहा कि जिस भी संस्थान में 100 से अधिक बच्चे हो, वहां मेडिकल टीम भेजकर वैक्सीनेशन कराया जाएगा। पॉलिटेक्निक कॉलेज के बच्चों का वैक्सीनेशन कराने हेतु नोडल अधिकारी नामित कराएंगे।

विश्वविद्यालयों के रजिस्ट्रार ध्यान दें

कमिश्नर ने बीएचयू और महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार के लिए कहा कि ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर के बच्चे लगभग 18 वर्ष के अंदर के होते हैं। ऐसे बच्चों को फोकस कर उनका वैक्सीनेशन अवश्य कराया जाए। युवा कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया कि 15 से 18 वर्ष के बच्चों को नजदीकी विकास खंड में ले जाकर उनका वैक्सीनेशन कराना सुनिश्चित कराएं। निर्धारित आयु वर्ग के अन्य जगहों से बनारस आकर पठन-पाठन करने वाले बच्चों का वैक्सीनेशन भी कराया जा। सारनाथ के तिब्बती कालेज के छात्रों को उनके विद्यालय के परिचय पत्र पर ही वैक्सीनेशन कराने कीकी बात कही।

उल्लेखनीय कार्य करने वाले पुरस्कृत होंगे

कमिश्नर ने कहा कि 15 से 18 निर्धारित आयु वर्ग के बच्चों के वैक्सीनेशन कार्य में उल्लेखनीय कार्य करने वाले अधिकारियों व संस्थानों को विशेष रूप से पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि 60 प्लस एवं निर्वाचन कार्य में ड्यूटी करने वाले कार्मिकों को कोरोना का बूस्टर डोज लगवाया जाएगा। वहीं, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि रविवार की शाम तक जनपद के 15 से 18 वर्ष आयु के सभी बच्चों का वैक्सीनेशन कराना अधिकारी सुनिश्चित कराएंगे।

जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी मदरसों के निर्धारित आयु वर्ग के बच्चों का 2 दिन के अंदर वैक्सीनेशन करवाएंगे। उन्होंने कहा कि युवा कल्याण, नेहरू युवा केंद्र, रेडक्रॉस, चाइल्ड लाइन एवं नागरिक सुरक्षा संगठन के लोग ऐसे बच्चे जो पढ़ने न जाते हों, उनको ढूंढ कर उनका वैक्सीनेशन करवाएं।

श्रम अधिकारी ढाबा, ईंट-भट्ठा पर रहने वाले बच्चों का वैक्सीनेशन कराएंगे। नगर निगम के अधिकारी गलियों एवं सड़क के किनारे रहने वाले निर्धारित आयु वर्ग के बच्चों का वैक्सीनेशन कराने के लिए राशन के दुकानदारों और पार्षदों का सहयोग लें। जिन स्कूली बच्चों का परिचय पत्र अब तक स्कूलों द्वारा नहीं बनाया गया है उन बच्चों का परिचय पत्र स्कूल तत्काल बनाएं। गलियों में घूमने व दुकानों पर काम करने वाले ऐसे बच्चे जो विद्यालय नहीं जाते, उनका वैक्सीनेशन डॉक्टर संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम और एलटी कॉलेज के सेंटर पर कराया जाएगा।