कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर डीएम गंभीर:कोरोना टोल फ्री नम्बर 1077, इंटीग्रेटेड कोविड कमाण्ड एंड कंट्रोल सेंटर पर फोन कर ले सकते हैं मदद

वाराणसी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीएम कौशल राज शर्मा के निर्देश पर सिगरा के शहीद उधान स्थित इंटीग्रेटेड कोविड कमाण्ड एंड कंट्रोल सेंटर का टोल फ्री नम्बर जारी किया गया है।  कोविड की समस्या से पीड़ित कोई भी व्यक्ति या उसका परिवार उस नंबर पर काल कर मदद ले सकता है। - Dainik Bhaskar
डीएम कौशल राज शर्मा के निर्देश पर सिगरा के शहीद उधान स्थित इंटीग्रेटेड कोविड कमाण्ड एंड कंट्रोल सेंटर का टोल फ्री नम्बर जारी किया गया है। कोविड की समस्या से पीड़ित कोई भी व्यक्ति या उसका परिवार उस नंबर पर काल कर मदद ले सकता है।

कोरोना की तीसरी लहर के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट हो गया है। स्वास्थ्य सुविधाओं को देखते हुए विभाग ने अपनी प्रक्रिया भी तेज कर दी है। इसी क्रम में डीएम कौशल राज शर्मा के निर्देश पर सिगरा के शहीद उद्यान स्थित इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का टोल फ्री नम्बर जारी किया गया है, ताकि कोविड की समस्या से पीड़ित कोई भी व्यक्ति या उसका परिवार उस नंबर पर कॉल कर मदद ले सके।

इन नंबरों पर तत्काल करें संपर्क
सीएमओ डॉ. संदीप चौधरी ने बताया कि डीएम कौशल राज शर्मा के निर्देश के बाद टोल फ्री नम्बर 1077 जारी किए गए हैं। कोई भी व्यक्ति कोविड संबंधित जानकारी के साथ ही मदद हासिल कर सकता है। इसके अलावा 0542-2221937, 0542-2221941, 0542-2221942, 0542-2221944 के साथ ही 0542-2720005 पर भी कॉल कर मदद हासिल की जा सकती है। उन्होंने बताया कि कोविड पीड़ित किसी व्यक्ति को यदि एम्बुलेंस की जरूरत है या उसे किसी भी अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत है तो वह मोबाइल नंबर 7307413510 पर कॉल कर मदद मांग सकता है।

कोरोना के नए वैरिएंट से घबराएं नहीं नियमों का करें पालन
सीएमओ डॉ. संदीप चौधरी ने बताया कि इन फोन नंबरों से जनपदवासियों को भी काफी सहूलियत मिलेगी। वह यहां संपर्क कर तत्काल सहायता प्राप्त कर सकते है। उंहोंने लोगों से अपील की है कि कोरोना के नए वैरिएंट से घबराने की आवश्यकता नहीं है। इसके बचाव के लिए मास्क लगाना, दो गज दूरी और हाथों को बार-बार सैनिटाइज करना न भूलें। इसके साथ ही कोविड टीकाकरण जरूर कराएं।

आपदा को अवसर में बदला तो खैर नहीं

डीएम कौशल राज शर्मा ने सभी स्वास्थ्य कर्मियों को सख्त चेतावनी दी और कहा कि कोरोना के इस कठिन समय में अगर कोई भी इस आपदा को अवसर में बदलने का प्रयास करेगा तो उसकी खैर नहीं है। उन्होंने कहा कि इस आपदा में एक-दूसरे का सहयोग कर हम जंग जीत सकते हैं।

खबरें और भी हैं...