पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोनावायरस इफेक्ट:यूक्रेन में फंसे 50 से अधिक भारतीय छात्र; मेडिकल स्टूडेंट कल्याणी बोली- पीएम हमारी बात सुनें, हम भी आपके बच्चे

वाराणसी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बस्ती जिले की रहने वाली कल्याणी व उसकी सहपाठी। - Dainik Bhaskar
बस्ती जिले की रहने वाली कल्याणी व उसकी सहपाठी।
  • भारतीय दूतावास से लेकर पीएमओ तक ट्वीट करके वापसी की गुहार लगाई
  • बोले- राशन और पैसे खत्म हो रहे हैं, हम भी भारत की बेटी है, सरकार हमारी मदद करे
  • एक हॉस्टल में गोंडा, बस्ती, सिद्धार्थनगर समेत अन्य जगहों के छात्र

वाराणसी. कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी के बीच उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले की कल्याणी मिश्रा समेत 50 से अधिक भारतीय स्टूडेंट यूक्रेन में फंसे हैं। सभी यूक्रेन के शहर ओडिसा में मेडिकल (एमबीबीएस थर्ड इयर) की पढ़ाई कर रहे हैं। बीते 20 मार्च से ये मेडिकल छात्र भारतीय दूतावास व पीएमओ को ट्वीट करके मदद मांग कर रहे हैं, लेकिन अभी तक कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला है। एक को बीमारी लगी तो सब खत्म हो जाएंगे। यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी का कहना हैं- देश का बॉर्डर सील हैं इस समय कोई भी भारत नहीं आ सकता हैं। इसलिए यूक्रेन में मौजूदा हालात में कोई भी मदद नहीं हो सकती हैं।

यूक्रेन के बैंक स्वीकार नहीं कर रहे भारत से आने वाले पैसे
कल्याणी ने दैनिक भास्कर से बात की। कहा- अंकल हमें बचा लीजिए.....प्लीज हेल्प....रोते हुए ट्वीट करते करते हम लोग थक गए है। हॉस्टल में छींकने पर भी प्रतिबंध है। पुलिस आकर पिटाई करती है। पैसे-राशन सब खत्म हो रहा है। एमबीबीएस थर्ड ईयर की पढ़ाई कर रही हूं। 20 मार्च से लगातार एम्बेसी, पीएमओ सभी जगहों पर ट्वीट और लेटर लिखकर मदद मांगी है। कल्याणी का कहना है कि हमें हॉस्टल से निकलने नहीं दिया जा रहा है। हमें कुछ हो जाएगा तो सभी लोग हॉस्टल में इफेक्टेड होंगे। बीमार होने पर भारत भी कभी नहीं जा पाएंगे, न कोई गार्जियन यहां आ पाएगा। मजबूरी में हम लोग किचन भी एक ही यूज कर रहे हैं। हमारे साथ के इजराइल और इजिप्ट के दर्जनों बच्चे अपने देश की मदद से घर लौट गए। इंडिया से जो पैसा यहां बैंको में आ रहा है, वो यूक्रेन के बैंक एक्सेप्ट नहीं कर रहे हैं।

महंगा हुआ राशन, पीएम हमारी बात सुनें
कल्याणी ने बताया कि यहां राशन बहुत महंगा हो गया है। यहां की करेंसी गोविना 1 रुपए के बराबर 3 रूपया भारत का होता है। 1000 रुपए प्रति किलो अदरक, आटा 120 रुपए प्रतिकलो, चावल 120 रुपए प्रतिकिलो मिल रहा है। तीन दिन पहले दादा की डेथ हो गयी, लेकिन मैं नहीं पहुंच पाई। हम सभी सितंबर 2019 में यहां आए है।

परिजन खर्च उठाने को तैयार
हमारे परिवार के लोग भारत सरकार को पूरा खर्च देने को तैयार हैं कि हम लोगो को किसी तरह भारत घर पहुंचाया जाए। हम सभी टेस्ट स्क्रीनिंग को तैयार है। भारत लाकर हमें क्वारैंटाइटन किया जाए। यहां बीमार पड़ने पर डॉक्टर हमारा चेकअप भी नहीं करेगा। कोरोना वायरस यूक्रेन में भी फैल रहा है। सरकार को सोचना चाहिए हम भी भारत के बच्चे हैं। पीएम मोदी से भी हमारी रिक्वेस्ट है, वो कुछ करें। क्योंकि एक को कुछ हुआ तो सभी खत्म हो जाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser