बरेका में फ्रंटलाइन वर्कर्स और बुजुर्गों को बूस्टर डोज:बुजुर्गों के लिए रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं, पंजीकृत मोबाइल नंबर, आईडी दिखाकर करवाएं वैक्सीनेशन

वाराणसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरेका में सोमवार को हेल्थ केयर, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों के बूस्टर डोज अभियान की शुरुआत की गई। - Dainik Bhaskar
बरेका में सोमवार को हेल्थ केयर, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों के बूस्टर डोज अभियान की शुरुआत की गई।

बरेका में सोमवार को हेल्थ केयर, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों के बूस्टर डोज अभियान की शुरुआत की गई। मुफ्त टीकाकरण महा अभियान की शुरुआत प्रमुख मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. देवेश कुमार की देख-रेख में हुई। सबसे पहली डोज 91 वर्षीय ए.डी. चोपड़ा को लगाई गई। हेल्थ केयर वर्करों में मानती सिंह, मुख्य नर्सिंग अधीक्षक के साथ फ्रंट लाइन वर्करों में बरेका रेलवे सुरक्षा बल के जवानों को टीका लगाया गया। डॉ. देवेश कुमार बूस्टर डोज उन लोगों को लगाया जा रहा है जिन्हें पूर्व में दूसरा डोज नौ माह (39 सप्ताह) लगा था। 60 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों का टीकाकरण उनके द्वारा कहे जाने के बाद डॉक्टर के सलाह के बाद ही किया जा रहा है। साथ ही हेल्थ केयर, फ्रंटलाइन वर्करों सहित 60 वर्ष से ऊपर के पूर्व से गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों को बूस्टर डोज के लिए रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं है वह सीधे टीकाकरण केंद्र पर जाकर पंजीकृत मोबाइल नंबर, आईडी दिखाकर बूस्टर डोज लगवा सकते हैं।

बरेका में हेल्थ केयर, फ्रंटलाइन वर्कर्स बूस्टर डोज लगवाते हुए।
बरेका में हेल्थ केयर, फ्रंटलाइन वर्कर्स बूस्टर डोज लगवाते हुए।

युवाओं का भी हुआ टीकाकरण
बरेका टीकाकरण केंद्र पर प्रीकॉशनरी डोज के अलावा 15 से 18 वर्ष के युवाओं और अन्य उम्र के लोगों के लिए अलग-अलग टीकाकरण काउंटर बनाया गया था। पीआरओ राजेश कुमार यादव ने बताया कि असमंजस की स्थिति न बन पाए और कोरोना प्रोटोकॉल का अनुपालन भी सुनिश्चित कराया जा रहा है। हो सके

खबरें और भी हैं...