• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Varanasi Revival Of Religious Beliefs, Ponds, Wells, Ghat, Ancient Trees Falling In The Path To Be Built At A Cost Of 33.56 Crores Will Be Renovated

वाराणसी... पावन पथ यात्रा में 120 मंदिर के होंगे दर्शन:33.56 करोड़ की लागत से बनने वाले पथ में पड़ने वाले धार्मिक मान्यता वाले कुंड, तालाब, कूप, घाट, प्राचीन वृक्ष का किया जाएगा जीर्णोद्धार

21 दिन पहलेलेखक: अनुभव शुक्ला
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में धार्मिक स्थलों तक पहुंचने वाले पावन पथ और मंदिरों के जीर्णोद्धार के तहत पावन पथ सर्किट में दस यात्राओं को शामिल किया गया है। पावन पथ यात्रा 120 मंदिर के दर्शन होंगे। - Dainik Bhaskar
वाराणसी में धार्मिक स्थलों तक पहुंचने वाले पावन पथ और मंदिरों के जीर्णोद्धार के तहत पावन पथ सर्किट में दस यात्राओं को शामिल किया गया है। पावन पथ यात्रा 120 मंदिर के दर्शन होंगे।

शिव की नगरी काशी में देश के प्रमुख धार्मिक स्थल मौजूद हैं। यहां भी दर्शन कर उतना ही पुण्य कमा सकते हैं। प्रदेश सरकार ने धार्मिक स्थलों तक पहुंचने वाले पावन पथ और मंदिरों के जीर्णोद्धार की योजना बनाई है। पावन पथ सर्किट में दस यात्राओं को शामिल किया गया है। पावन पथ यात्रा 120 मंदिर के दर्शन होंगे। साथ ही इस पथ में पड़ने वाले धार्मिक मान्यता वाले कुंड, तालाब, कूप, घाट, प्राचीन वृक्ष का जीर्णोद्धार किया जाएगा। काशी की सीमा में प्रवेश करते ही पवन पथ सर्किट की सम्पूर्ण जानकारी मिल जाएगी। पावन पथ परियोजना पर लगभग 33.56 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

पथ में पड़ने वाले धार्मिक मान्यता वाले कुंड, तालाब, कूप, घाट, प्राचीन वृक्ष का जीर्णोद्धार किया जाएगा।
पथ में पड़ने वाले धार्मिक मान्यता वाले कुंड, तालाब, कूप, घाट, प्राचीन वृक्ष का जीर्णोद्धार किया जाएगा।

पावन पथ पर जल, थल, नभ की दिखेगी झलक
जल, थल व नभ से जैसे ही आप काशी में आएंगे तो पावन पथ का पथ प्रदर्शक मिल जाएगा। इस पथ प्रदर्शक पर सभी दस पावन पथों की संपूर्ण जानकारी अंकित मिलेगी, जो एक से अधिक भाषा में होगी। पावन पथ सर्किट में 10 यात्राओं को शामिल किया गया है। इसमें अष्ट भैरव यात्रा, नौ गौरी यात्रा, नौ दुर्गा यात्रा, अष्ट विनायक यात्रा, अष्ट प्रधान विनायक, एकादश विनायक यात्रा, द्वादश ज्योतिर्लिंग यात्रा, काशी विष्णु यात्रा, द्वादश आदित्य यात्रा, काशी में चार धाम यात्रा हैं।

मानचित्र में दिखेगा यात्रा का इतिहास और काशी का महत्व
इतिहास से भी प्राचीन शहर काशी में पूर्व की सरकारों ने सनातन धर्म की आस्था का केंद्र काशी के इन धार्मिक यात्राओं और मंदिरों पर ध्यान नहीं दिया। जिससे इन महत्वपूर्ण धार्मिक यात्राओं के मार्ग और मंदिर गलियों में समय के साथ गुम होते चले गए। इस परियोजना में दस महत्वपूर्ण यात्राओं सहित काशी क्षेत्र के भीतर धार्मिक तीर्थ यात्रा को यात्रियों के सुविधाजनक बनाने के लिए की गई है। प्रत्येक पावन पथ यात्रा के लिए साइनेज, यात्रा का इतिहास, महत्व, मानचित्र द्वारा प्रदर्शित होगा। इससे यात्री पूरी यात्रा के बारे में सरलता से समझ पाए, इसके अलावा पावन पथ और उससे जुड़े करीब 120 मंदिरों और तलाब कुंड व अन्य स्थलों का जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण किया जाएगा। वीडीए वीसी ईशा दुहन ने बताया कि वीडीए की ओर से पावन पथ का डीपीआर शासन को भेज दिया गया है। अनुमति मिलते ही काम शुरू कर दिया जाएगा। इस परियोजना को पूरा करने में लगभग 33.56 करोड़ खर्च होंगे। इसमें पहले चरण में 16.56 करोड़ और दूसरे चरण में 16.98 करोड़ खर्च होना है।

खबरें और भी हैं...