काशी की नींव पड़ गई, अब मथुरा की बारी:देश भर से आए संत बोले- पार्श्वनाथ और भोलेनाथ की नगरी ने कर दिया धन्य

वाराणसीएक महीने पहले
श्रीकाशी विश्वनाथ धाम में दर्शन करने पहुंची साध्वी ऋतंभरा।

वाराणसी में आज शंकराचार्याें और संतों का अनूठा समागम देखने को मिला। हरिद्वार से आए संतों ने कहा कि अयोध्या, काशी और मथुरा में एक पूरा हो चुका है। दूसरे (काशी) की नींव आज पड़ गई है, वहीं तीसरे यानि कि मथुरा में 2024 से काम शुरू होगा। अस्सी से राजघाट तक बाबा के भक्तों में नागा से लेकर किन्नर साधु-संत, विदेशी पर्यटक, नेता, अधिकारी और आम आदमी हर तरह के लोग दिखे। हिंदू ही नहीं मुस्लिम, जैन मुनि और बौद्ध हर धर्म और मत के लोगों में बाबा विश्वनाथ के प्रति असीम भक्ति दिखी। पूरे 7 किलोमीटर के एरिया में भक्तजन के साथ ही लग्जरी कारों का तांता लगा रहा।

साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि आज का दिन हिंदू समाज के लिए बड़ा दिन है। योगी और मोदी ने धन्य कर दिया। बाबा विश्वनाथ का इतना विहंगम दृश्य इससे पहले किसी ने सोचा भी नहीं था। दिल्ली से आए जैन धर्म के प्रतिनिधि लोकेश ने कहा कि काशी जैन संत पार्श्वनाथ की जन्मभूमि और भोलेनाथ की नगरी है। यह हमारे धर्म और समाज के लिए खासा बड़ा दिन है। श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का दर्शन करने आए जैन धर्म प्रचारक कमल कुमार ने कहा कि 250 साल के बाद आज काशी की जनता को बाबा का विराट स्वरूप मिल गया। इससे हम सब काशी वासी अभिभूत हैं।

बाहर से आने वालों को मिलेंगी सहूलियतें
अहमदाबाद से आए महामंडलेश्वर अखिलेश दास ने कहा कि यह दृश्य अवर्णनीय है। काशी विश्वनाथ भगवान ऐसे ही दिखे। काशी की तंग गलियों में इस महान काम के लिए सरकार का बहुत-बहुत अभिनंदन है। बद्रीनाथ से आए महामंडलेश्वर वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा कि द्वादश शिवलिंग में से काशी विश्वनाथ अब समस्त धर्मावलंबियों का मुख्य केंद्र बनेगा। यहां पर दर्शन-पूजन में अब दुनिया भर के लोगों को काफी सहूलियत मिलने वाली है।

स्थानीय लोग बोले- चुनाव में होगा BJP को फायदा

युवा प्रशांत मिश्रा ने कहा कि पूरी काशी धन्य हो गई है। भाजपा की सरकार ने जो काम कराया है उसका फायदा 2022 और 2024 चुनाव में निश्चित रूप से मिलेगा। गोदौलिया के बैजनाथ गुप्ता ने कहा कि मोदी काशी वासियों के दिल में हैं। उनके रहते यहां के लोगों का उद्धार हो जाएगा। भव्य मंदिर यहां पर पर्यटन के मार्ग को प्रशस्त करेगा। इससे लोगों को काफी सुविधाएं बनारस में मिलने वाली है।

खबरें और भी हैं...