10 फोटो में देखें बनारसी बच्चों में वैक्सीनेशन का उत्साह:15 से 18 साल के 2805 ने लगवाई कोवैक्सीन; बच्चे बोले- अब स्कूल नहीं होगा मिस

वाराणसी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
15 साल से 18 साल के किशोरों के लिए आज टीकाकरण का महा अभियान शुरू हुआ।  60 साल से ऊपर के 2370 लोग और 2805 बच्चों ने वैक्सीन लगवाई। - Dainik Bhaskar
15 साल से 18 साल के किशोरों के लिए आज टीकाकरण का महा अभियान शुरू हुआ। 60 साल से ऊपर के 2370 लोग और 2805 बच्चों ने वैक्सीन लगवाई।

वाराणसी में पहले ही दिन 15 से 18 साल के 2805 किशोर-किशोरियों ने कोविड का वैक्सीन लगवाया। वहीं सोमवार को 18 साल के ऊपर वालों में कुल 17726 लोगों ने वैक्सीन लगवाई। ओवरआल 20,231 लोगों ने वैक्सीन की खुराक ली। आज वैक्सीनेशन सेंटर पर बच्चों की संख्या 60 साल से ऊपर के बुजुर्गों से दोगुना रही।

CMO डॉ. संदीप चौधरी ने बताया कि DM के निर्देशन में बड़े उत्साह के साथ वैक्सीनेशन की शुरूआत हुई। हर कोविड वैक्सीनेशन सेंटर लंबी-चौड़ी भीड़ लगी रही। CMO ने बताया कि सोमवार को इन केंद्रों और चैरिटेबल हॉस्पिटलों सहित 523 सत्रों का आयोजन किया गया। वैक्सीनेशन सेंटर पर डायरेक्ट भी रजिस्ट्रेशन कराकर भी कोरोना का टीका लगवा सकते हैं। एक मोबाइल नंबर छह लोगों के रजिस्ट्रेशन की सुविधा दे दी गई है।

वाराणसी के सभी वैक्सीनेशन सेंटरों पर आए बच्चों ने काफी जोश-खरोश के साथ वैक्सीन लगवाई। बच्चों ने कहा कि वैक्सीनेट हो जाने के बाद उनका स्कूल मिस नहीं होगा। क्लास में जब सभी वैक्सीनेट होंगे तो कोरोना का खतरा नहीं रह जाएगा। वहीं कुछ युवा खिलाड़ियों ने कहा कि मैदान में वे निसंकोच और निडर होकर अपने खेल पर मन लगा सकेंगे।

कालिका गली की रहने वाली अनुष्का (17) ने कहा कि कोविड-19 के पहले डोज का स्लाट बुक कराने के लिए उसने शनिवार की रात काफी देर तक प्रयास किया आज खुशी मिली।
कालिका गली की रहने वाली अनुष्का (17) ने कहा कि कोविड-19 के पहले डोज का स्लाट बुक कराने के लिए उसने शनिवार की रात काफी देर तक प्रयास किया आज खुशी मिली।

ढाई लाख वैक्सीनेशन का टारगेट

वाराणसी के हेल्थ डिपार्टमेंट ने सवा 2 लाख से ढाई लाख तक किशोरों के वैक्सीनेशन का टारगेट रखा है। सभी किशोरों को सिर्फ कोवैक्सीन की ही डोज लगाई जाएगी। वैक्सीनेशन के लिए सबसे पहले स्लॉट बुक कराने वालों को तरजीह दी जा रही है। सेंटरों पर भीड़ तो अच्छी-खासी है, मगर नियमबद्ध तरीके से वैक्सीन लगाया जा रहा है। यहां किसी तरह का कोई अव्यवस्था नहीं देखी गई।

हर उम्र वर्ग के लोगों के आंकड़े

8778 लोगों को पहली डोज और 8948 को सेकेंड डोज लगाई गई। 18 से 45 वर्ष तक के 11,136, 45 से 60 वर्ष के 2370, वहीं 60 साल से ऊपर के 1196 लोगों को वैक्सीन लगाया गया। CMO ने बताया कि अभी तक जिले में कुल 45 लाख, 71,255 डोज लगाई जा चुकी है। इसमें से 28 लाख 27,459 पहली डोज और 17 लाख, 43,796 सेकेंड डोज लगाई जा चुकी है।

वाराणसी के शिवपुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर वैक्सीन लगवाते बच्चे।
वाराणसी के शिवपुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर वैक्सीन लगवाते बच्चे।

CMO डा. संदीप चौधरी ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार इस वैक्सीनेशन को तय समय के अंदर ही पूरा किया जाना है।

शिवपुर CHC में कोवैक्सीन लगाया जा रहा है।
शिवपुर CHC में कोवैक्सीन लगाया जा रहा है।
शिवपुर की सृष्टि ने कहा अब क्लास कर सकेंगे। बिना टेंशन पढ़ाई-लिखाई किया जा सकेगा।
शिवपुर की सृष्टि ने कहा अब क्लास कर सकेंगे। बिना टेंशन पढ़ाई-लिखाई किया जा सकेगा।
सिगरा की रहने वाली वैभवी (15) ने कहा कि टीकाकरण के लिए ज्योंही स्लाट खुला, उसे बुक किया और यहां टीका लगवाने के लिए समय से पहुंच गयी।
सिगरा की रहने वाली वैभवी (15) ने कहा कि टीकाकरण के लिए ज्योंही स्लाट खुला, उसे बुक किया और यहां टीका लगवाने के लिए समय से पहुंच गयी।
कुमार आर्यन ने कहा कि वह काफी उत्साहित थे। अब गेम खेलने में कोई दिक्कत नहीं होगी।
कुमार आर्यन ने कहा कि वह काफी उत्साहित थे। अब गेम खेलने में कोई दिक्कत नहीं होगी।
हौज कटोरा निवासी यशनील सिंह (17) ने कहा कि स्कूल आते-जाते अथवा घर से निकलने पर हमारे परिवार के लोग काफी चिंतित रहते थे। टीकाकरण के बाद उनकी चिंता काफी कम हो जाएगी।
हौज कटोरा निवासी यशनील सिंह (17) ने कहा कि स्कूल आते-जाते अथवा घर से निकलने पर हमारे परिवार के लोग काफी चिंतित रहते थे। टीकाकरण के बाद उनकी चिंता काफी कम हो जाएगी।
हरिओम तिवारी ने कहा वैक्सीन लगवाने के बाद हम भी चैन से घूम-फिर सकेंगे।
हरिओम तिवारी ने कहा वैक्सीन लगवाने के बाद हम भी चैन से घूम-फिर सकेंगे।
मैदागिन निवासी मेहल ने वैक्सीन लगवाने के बाद कहा कि उसे बचपन से ही अस्थमा का रोग है। इस बीच किशोर-किशोरियों के भी टीकाकरण का अभियान शुरू होने की खबर मिलते ही उसे काफी खुशी हुई।
मैदागिन निवासी मेहल ने वैक्सीन लगवाने के बाद कहा कि उसे बचपन से ही अस्थमा का रोग है। इस बीच किशोर-किशोरियों के भी टीकाकरण का अभियान शुरू होने की खबर मिलते ही उसे काफी खुशी हुई।