बारिश की एक बूंद के लिए तरसा बनारस:शनिवार को 1°C बढ़ा वाराणसी का तापमान; प्रदूषण घटा और गंगा का जलस्तर 56 मीटर से नीचे

वाराणसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यह तस्वीर वाराणसी में गंगा घाट की है। - Dainik Bhaskar
यह तस्वीर वाराणसी में गंगा घाट की है।

देश भर के कई इलाकों में काफी घनघोर बरसात हुई। यहां तक कि वाराणसी से 60 किलोमीटर दूर जौनपुर में भी बादल बरसे, मगर बनारस सूखा ही रह गया। बादलों ने कुछ देर काशी के आसमान की घेरेबंदी जरूर की, मगर एक पल भी बूंदाबांदी काशीवासियों को नसीब नहीं हुई। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, अगले 4 दिन तो बारिश का कोई अनुमान ही नहीं है। इसके बाद उम्मीद की जा सकती है कि वाराणसी का मौसम खुशनुमा हो।

आज वाराणसी में तेज धूप निकलने से गर्मी फिर से बढ़ गई है। हवा 7 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बह रही है। वहीं सूरज आज सुबह 7 बजे से ही झुलसाने का काम कर रहे हैं। वातावरण में नमी 79% पर आ गई है। वाराणसी का अधिकतम तापमान 38.8°C दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान सामान्य से 1°C कम रहा। वहीं, न्यूनतम तापमान सामान्य से 1°C कम 24°C दर्ज किया गया।

3-4 दिन बारिश की उम्मीद

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के मौसम वैज्ञानिक प्रोफेसर मनोज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि नमी थोड़ी और बढ़ी तो वाराणसी में बारिश 3-4 दिन में धमक सकती है। उस दौरान पूरब की ओर से आ रही हवा काफी तेज चलेगी। उन्होंने बताया कि इस साल वाराणसी में बारिश में थोड़ी देर हो रही है। पिछले साल प्री-मानसून अब तक आ गया था। कहा कि शहर में ग्रीनरी न होना इस प्रचंड गर्मी और बरसात न होने के पीछे सबसे बड़ा कारक है।

वाराणसी​​​​​​ में AQI 68 अंक पर
वाराणसी में शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) आज भी 68 अंक पर बना हुआ है। वातावरण में प्रदूषण 'संतोषजनक' की कटेगरी में है। आज वाराणसी का सबसे कम प्रदूषित इलाका BHU रहा। यहां का AQI 59 अंक दर्ज किया गया। वहीं, इसके बाद मलदहिया और अर्दली बाजार में 68, तो वहीं भेलूपुर में 78 अंक तक प्रदूषण का लेवल रिकॉर्ड किया गया।

गंगा का जलस्तर 58.66 मीटर

आज गंगा का जलस्तर घटकर 58.66 मीटर पर आ गया है। गंगा दिनोंदिन सूखती चली जा रहीं हैं। पानी की कमी होने से गंगा के बीच में बालू के टीले दिखाई पड़ने लगे हैं।