• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Vinod Of Chandauli District Of Varanasi Division Nominated For The Presidential Election, Said Mahadev's Blessings Are With Him; Now I Will Mobilize Support From All Over The Country

राष्ट्रपति चुनाव के लिए चंदौली के किसान ने भरा पर्चा:बोले- 10 राज्यों के सांसदों से मेरी बात हुई, सभी ने समर्थन की हामी भरी

वाराणसीएक महीने पहले

चंदौली के किसान विनोद कुमार यादव ने सोमवार को दिल्ली में राष्ट्रपति चुनाव के लिए पर्चा भरा। नामांकन करने के बाद उन्होंने 'दैनिक भास्कर' से फोन पर बात की। उन्होंने कहा, ''सपने में नंदी पर सवार होकर आए महादेव ने आदेश दिया था कि राष्ट्रपति का चुनाव लड़ो। उनके आदेश को भला कैसे टाल सकता था।''

विनोद ने कहा, ‘‘रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के गांव के बगल में मेरा गांव है। मैंने नामांकन कर दिया है। अब वापस गांव लौट रहा हूं। मेरी देश के 10 राज्यों के सांसदों से बात हुई है। सभी ने मेरा समर्थन करने का भरोसा दिया है। अब सांसदों-विधायकों का समर्थन जुटा कर मैं राष्ट्रपति का चुनाव जीतूंगा। इसमें जीत दर्ज कर अपने चंदौली जिले का नाम रोशन करूंगा।’’

यह फोटो दिल्ली की है। नामांकन करने के बाद विनोद कुमार यादव (बीच में) अपने प्रस्तावकों के साथ।
यह फोटो दिल्ली की है। नामांकन करने के बाद विनोद कुमार यादव (बीच में) अपने प्रस्तावकों के साथ।

प्रधानी से लेकर MP तक का लड़ा चुनाव, सभी में हारे विनोद
विनोद कुमार यादव, चंदौली जिले के इलिया क्षेत्र के कलानी गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने बताया, ‘‘मैं किसान का बेटा हूं और 10वीं तक की पढ़ाई की है। 2005-06 से चुनाव लड़ना शुरू किया था। बीडीसी, ग्राम प्रधान, जिला पंचायत सदस्य, विधानसभा और लोकसभा सबका चुनाव लड़ा। हालांकि किसी भी चुनाव में जीत नहीं मिली।’’

उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव लड़ने के लिए यूपी, बिहार, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, गोवा, दिल्ली, उत्तराखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश और कर्नाटक सहित सभी राज्यों के सांसदों से बात चल रही है। सभी ने आश्वस्त किया है कि वे हमारा सहयोग करेंगे।’’

दिल्ली में अपने प्रस्तावकों के साथ नामांकन संबंधी अपने कागज दिखाते हुए विनोद।
दिल्ली में अपने प्रस्तावकों के साथ नामांकन संबंधी अपने कागज दिखाते हुए विनोद।

''सभी प्राइमरी स्कूल में अंग्रेजी के 2-2 टीचर होने चाहिए''
विनोद यादव ने कहा, ‘‘कुछ समस्याओं के समाधान के लिए मैं राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहा हूं। 15 साल की लड़कियों को पढ़ने-लिखने के लिए आने-जाने का किराया फ्री होना चाहिए। सभी प्राइमरी स्कूल में इंग्लिश के दो-दो शिक्षक होने चाहिए। हर गांव में ट्यूबवेल लगना चाहिए, ताकि किसानों को खेत की सिंचाई में दिक्कत न हो। लड़की की शादी हो, तो सारा खर्च लड़के वालों को उठाना चाहिए। मेरी प्राथमिकता में गांव, किसान और नौजवान के साथ ही समाज के सभी वर्ग के लोग हैं।’’

विनोद कुमार यादव के नामांकन संबंधी कागजात को मीडिया में जारी भी किया है।
विनोद कुमार यादव के नामांकन संबंधी कागजात को मीडिया में जारी भी किया है।