काशी विद्यापीठ में बजा चुनाव का बिगुल:24 दिसंबर को वोटिंग, शाम तक रिजल्ट; यहां जाने पूरा शेड्यूल और चुनाव अधिकारियों के डिटेल

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में छात्र संघ चुनाव का बिगुल बज चुका है। 24 दिसंबर को वोटिंग होगी और उसका रिजल्ट भी उसी दिन आ जाएगा। काशी विद्यापीठ के एेप पर चुनाव से जुड़ी हर गतिविधि को ट्रैक किया जा सकता है। इसके अलावा प्रत्याशी नामांकन से लेकर करेक्शन और अंतिम सूची भी वहीं पर देख सकेंगे। पिछले कई महीनों से छात्रों का दल चुनाव कराने को लेकर आंदोलन पर था। आज तारीखों की घोषणा होते ही छात्र संगठनों में खुशी का माहौल छा गया। छात्र धड़ाधड़ होर्डिंग्स और बैनर बनवाने में जुट गए हैं।

चुनाव के सारे काम होंगे मानविकी संकाय में

17 दिसंबर को नामांकन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, 18 दिसंबर को नामांकन की हार्ड कॉपी और ओरिजिनल डॉक्यूमेंट्स वैरिफिकेशन के लिए जमा किए जाएंगे। उसी दिन वैध और अवैध नामांकनों की लिस्ट प्रकाशित की जाएगी। वहीं 19 को नामांकन की वापसी ऑनलाइन होगी। इसके बाद 20 को फाइनल नामांकन सूची काशी विद्यापीठ की वेबसाइट जारी कर दी जाएगी। इसमें सभी प्रत्याशियों के पदवार सूची की जानकारी दी जाएगी। चुनाव से संबधित सारे काम विद्यापीठ के मानविकी संकाय कक्ष में होगा। विद्यापीठ में चुनाव की सारी प्रकिया रजिस्ट्रेशन से लेकर रिजल्ट की घोषणा तक ऑनलाइन ही होगी।

ये हैं चुनाव अधिकारी
इस दौरान चुनाव अधिकारी हिंदी विभाग के प्रो. अनुराग कुमार, समाजकार्य से डॉ. चंद्रशेखर सिंह, अर्थशास्त्र विभाग से डॉ. उर्जस्विता सिंह, मनोविज्ञान के डॉ. मुकेश कुमार पंथ और अर्थशास्त्र विभाग के डॉ. परिजात सौरभ को बनाया गया है। इसके अलावा चुनाव कार्यालय से 19 अन्य प्रोफेसरों और कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। जिनके नाम और विभाग की जानकारी नीचे चित्र में दिया गया है।

चुनाव कार्यालय से जुड़कर काम करेंगे ये लोग।
चुनाव कार्यालय से जुड़कर काम करेंगे ये लोग।

उपद्रवियों काे चिन्हित करेगी वाराणसी पुलिस
काशी विद्यापीठ में चुनाव कराने के लिए विश्वविद्यालय को जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करनी होती है। पूरी चुनावी प्रकिया के दौरान भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात होती है। यहां पर कई बार उपद्रव की भी नौबत आ जाती है। इस बार भी विश्वविद्यालय प्रशासन ने भारी संख्या में पुलिस बल लगाने के लिए कहा है। इस दौरान शांति भंग न हो वाराणसी पुलिस पहले से ही उपद्रवियों को चिन्हित करने की तैयारी कर दी है।