वाराणसी में बारिश ने खोली पोल:झूम के बरसे बदरा तो खुली नगर निगम की जल निकासी व्यवस्था की पोल, कब्रिस्तान की दीवार गिरने से एक घायल

वाराणसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरसात के पहले नगर निगम की जलनिकासी की व्यवस्था की पोल खुल गई। - Dainik Bhaskar
बरसात के पहले नगर निगम की जलनिकासी की व्यवस्था की पोल खुल गई।

वाराणसी में सोमवार की शाम बदरा झूम कर बरसे। बारिश के कारण शहर के सभी मुख्य मार्गों पर लोगों को जलभराव की समस्या का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही बरसात के पहले नगर निगम की जलनिकासी की व्यवस्था की पोल खुल गई। गौरतलब है कि वाराणसी की जलभराव की समस्या वर्षों की है। इसके लिए करोड़ों रुपये की परियोजनाओं पर काम भी हुआ है, लेकिन समस्या का स्थायी समाधान नहीं हुआ। उधर, बारिश से किसान खुश दिखे। किसानों का कहना था कि धान की नर्सरी के लिए बरसात फायदेमंद है।

बारिश के दौरान दशाश्वमेध थाना अंतर्गत मदनपुरा सकराबाद मुहल्ले में स्थित कब्रिस्तान की दीवार गिरने से जाकिर अली (30) गंभीर रूप से घायल हो गया। मुहल्ले के लोगों ने बताया कि जंगमाबाड़ी के पार्षइ गोपाल यादव मौके पर सबसे पहले पहुंचे। उन्होंने बिजली का कनेक्शन कटवाया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। नगर निगम से जेसीबी की मांग की गई लेकिन कोई नहीं आया तो मुहल्ले के लोगों ने खुद ही राहत और बचाव का काम शुरू कर दिया। घायल जाकिर की हालत गंभीर बताई गई है। मुहल्ले के लोगों के अनुसार कब्रिस्तान की दीवार 3 साल से जर्जर थी। इस संबंध में नगर नगम के अधिकारियों को भी बताया गया था लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

9.6 मिलीमीटर हुई बारिश, उमस से मिली राहत

वाराणसी के बाबतपुर स्थित मौसम विभाग के कार्यालय के अनुसार सोमवार की शाम 7 बजे तक 9.6 मिलीमीटर बारिश जिले में दर्ज की गई है। बारिश के कारण लोगों को उमस से राहत मिली है। इसके साथ ही तापमान घट कर 26 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। इस दौरान 5 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा बही और आर्दता 93 प्रतिशत दर्ज की गई।

खबरें और भी हैं...