वाराणसी में रफ्तार का कहर:हाईवे पर जाम हटवाते वक्त पिकअप ने सिपाही को कुचला, मौत; हादसे में बाल-बाल बचे 2 साथी

वाराणसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिपाही राधेश्याम यादव पुलिस में भर्ती होने से पहले आर्मी में थे।- फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
सिपाही राधेश्याम यादव पुलिस में भर्ती होने से पहले आर्मी में थे।- फाइल फोटो

वाराणसी के मिर्जामुराद बाजार में गुरुवार सुबह विपरीत दिशा से आए पिकअप ने सिपाही को टक्कर मार दिया। इससे सिपाही की मौत हो गई। सिपाही नेशनल हाईवे पर लगे जाम को हटाने की कोशिश कर रहा था। हादसे में दो सिपाही बाल-बाल बच गए। सिपाही की मौत से उनके परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। वहीं, अपने साथी की मौत से मिर्जामुराद थाने के पुलिसकर्मी भी खासे दुखी हैं। मिर्जामुराद थाने की पुलिस सिपाही का शव पोस्टमार्टम कराने के लिए ले गई है।

2 साल से मिर्जामुराद थाने में सिपाही था तैनात

आजमगढ़ जिले के महाराजगंज मोतीपुर गांव के मूल निवासी राधेश्याम यादव (44 साल) मिर्जामुराद थाने में 2 साल से तैनात थे। पुलिस की नौकरी से पहले राधेश्याम आर्मी में कार्यरत थे। कुछ दिनों पहले राधेश्याम प्रशिक्षण के लिए पुलिस लाइन चले गए थे और 8 दिन पहले वह मिर्जामुराद थाने वापस आए थे। राधेश्याम के साथ सिपाही सूरज, विकास और अभिषेक भी हाइवे पर ड्यूटी पर थे।

सूरज ने बताया कि मिर्जामुराद बाजार स्थित ओवरिब्रज पर जाम लगने की सूचना पर सभी लोग गए थे। उसी दौरान कछवारोड से वाराणसी की तरफ जा रही एक पिकअप पुलिस की जीप को देख गलत लेन में चला गया। इसके साथ ही वह पिकअप को मोड़ कर तेजी से भागने लगा और इसी बीच राधेश्याम को टक्कर लग गई। आनन-फानन राधेश्याम को थाने की जीप से मेहंदीगंज मिर्जामुराद स्थित एक नर्सिंगहोम ले जाया गया। उनकी हालत गंभीर देख कर डॉक्टर ने उन्हें बीएचयू ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया। जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। उधर, पिकअप लेकर भागने में आरोपी ड्राइवर सफल रहा।

पत्नी बोली- अब किसके सहारे हम और हमारे बच्चे जिएंगे

राधेश्याम की मौत की सूचना पाकर उनकी पत्नी सुमन यादव अपने दो बच्चों निखिल व अंशू और परिवार के अन्य लोगों के साथ बीएचयू ट्रॉमा सेंटर पहुंची। पति का शव देख कर वह अचेत हो गई। होश में आने पर वह यही कह रही थीं कि अब हम और हमारे बच्चे किसके सहारे रहेंगे। परिजन सुमन और उनके दोनों बच्चों को बड़ी ही मुश्किल से संभाले हुए थे। उधर, एसपी ग्रामीण अमित वर्मा ने इंस्पेक्टर मिर्जामुराद को सिपाही के शव का जल्द पोस्टमार्टम करा कर अंत्येष्टि की व्यवस्था कराने को कहा। इंस्पेक्टर मिर्जामुराद ने बताया कि ड्यूटी के दौरान सिपाही की मौत होने के कारण उन्हें पुलिस लाइन में शोक सलामी दी जाएगी। इसके बाद परिवार के लोग जहां कहेंगे, वहां शव की अंत्येष्टि की व्यवस्था कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...