भाई-दूज पर बहनों ने भाई को लगाया शगुन का टीका:वाराणसी में गोधना कूटकर महिलाओं ने की पूजा, रुई-बेसन की माला से की लंबी उम्र की कामना

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाई-बहन के प्रेम पर्व भाई दूज पर वाराणसी के शिवदासपुर मंडुआडीह में महिलाएं सामूहिक पूजा करते हुए। - Dainik Bhaskar
भाई-बहन के प्रेम पर्व भाई दूज पर वाराणसी के शिवदासपुर मंडुआडीह में महिलाएं सामूहिक पूजा करते हुए।

भाई-बहन के प्रेम पर्व भाई दूज की शनिवार को वाराणसी में बहार रही। रक्षाबंधन से प्राचीन इस सनातनी त्योहार को कुछ खास अंदाज से मनाया गया। गोधना कूटने की रस्म सुबह ही पूरी कर ली गईं थीं। इसके बाद बहनों ने पूरे दिन अपने भाइयों को शगुन का टीका लगाया और उनकी लंबी उम्र की कामना की। भाई दूज मनाने की शुरूआत सुबह के गोधना कूटने से हुई। महिलाओं ने सामूहिक तौर पर बैठकर रुई में बेसन लगा कर लंबी मालाएं बनाईं। कहते हैं कि यह माला जितनी लंबी होगी भाई की उम्र भी उतनी ही लंबी होगी। घर की महिलाओं ने एक-दूसरे को कई लोक कथाएं सुनाईं।

ससुराल में भी पहुंचे भाई

स्कंद पुराण और ब्रह्मवैवर्त पुराण के तहत इस पर्व के बारे में संस्कृत में दिए गए श्लोकाें का वाचन किया गया। धर्मशास्त्रों के अनुसार इस त्योहार को नारी सम्मान की तरह से भी आज मनाया गया। परंपरागत तरीके से भाई अपनी बहनों के ससुराल गए। टीका लगाने आदि की रस्मों को पूरा करने के बाद बहन के हाथ से बना हुआ भोजन किया। इसके बाद क्षमता के अनुसार ज्वेलरी, पैसा, कपड़ा और मिठाईयां देकर बहन का आदर सत्कार किया। कुंवारी और छोटी बहनों को घर पर ही उसका मनपसंद गिफ्ट दिया गया। गोधना पूजन के लिए टोला-मोहल्ला भर की महिलाएं एक के घर में इकट्ठा हुईं और जमकर गीत गाए गए। वाराणसी में सुंदरपुर, चितईपुरा, डीएलडब्ल्यू, चांदपुर, आदमपुर, सारनाथ, लहरतारा, कैंटोमेंट, पांडेयपुर आदि इलाकों के तालाबों, मंदिरों और कूपों में बड़ी संख्या में गोधना करती महिलाएं दिखाईं दीं।

कलम-दवात पर कायस्थ समाज ने निकाली रैली
भाई दूज के साथ ही कायस्थ समाज के लोगों ने भगवान चित्रगुप्त महाराज की पूजा की। कमल दवात पूजनोत्सव के लिए वाराणसी में कायस्थ समाज के लोगों ने रैली निकली। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा, वाराणसी द्वारा परंपरागत तरीके से मैदागिन के टाउनहाल से यह यात्रा शुरू हुई और नदेसर मिंट हाउस स्थित स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा के पास पहुंचकर पूरी हुई। मैदागिन में भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव ने विधि-विधान से पूजा करके इस रैली की शुरूआत की। यह कबीरचौरा, लहुराबीर, जगतगंज, तेलियाबाग, अंधरापुल होते हुए नदेसर की ओर निकली। इस दिन पूजा के बाद कायस्थ समाज के लोग कलम नहीं उठाते हैं।