• Hindi News
  • Madhurima
  • At The Time Of Marriage, Parents And Other Elders In The House Need More To Be Healthy, Some Exercise Will Help In This.

फिटनेस:शादी के वक़्त माता-पिता व घर के अन्य बड़े लोगों को सेहतमंद रहने की ज़्यादा ज़रूरत होती है, चंद व्यायाम इसमें मदद करेंगे

16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शादी का आयोजन ऐसा वक़्त होता है जब माता-पिता या घर के अन्य बड़े लोगों को सेहतमंद रहने की ज़्यादा ज़रूरत होती है। ऐसे में कुछ आसन करना उनके तनाव को कम करने, मूड और याददाश्त के लिए अच्छा होगा।

शादी-ब्याह वाले घर में हर समय अफरा-तफरी का माहौल रहता है, वहीं घर के बड़ों के हिस्से में तनाव भी कम नहीं होता। इन हालात में व्यायाम का या रिलैक्स करने का समय नहीं मिल पाता लेकिन हक़ीक़त में इन्हीं हालात में इनकी सबसे ज़्यादा ज़रूरत होती है। चंद मिनट निकालकर शादी की व्यवस्था में जुटे हर इंसान को इन व्यायाम को करना चाहिए।

स्पाइनल ट्विस्ट..

कुर्सी पर बैठ जाइए। ध्यान रखिए पैर फर्श पर सीधे रखें। घूमकर अपने दाहिने हाथ को कुर्सी के पीछे, बैकरेस्ट पर रखें, और अपने बाएं हाथ को अपनी दाहिनी जांघ पर रखिए। गहरी श्वास लें और अपनी रीढ़ को सीधा रखते हुए, धीरे-धीरे सांस छोड़िए और अपने शरीर को दांईं ओर घुमाते हुए दाहिने कंधे को देखें। अब इसे दूसरी तरफ़ दोहराएं।

बालासन...

इसे चाइल्ड पोज़ भी कहते हैं। फर्श पर घुटनों के बल बैठ जाएं। दोनों टखने मुड़कर और पीछे एड़ियां आपस में जुड़ी रहें। सांस छोड़ते हुए आगे की तरफ़ झुकें। कुछ सेकंड रुककर सांस लेते हुए सामान्य स्थिति में आ जाएं। 4-5 बार करें।

रोटेशनल नेक स्ट्रेस

​​​​​​​आप इस व्यायाम को बैठकर या खड़े होकर कर सकते हैं। इसे करने के लिए गर्दन को पहले सामान्य स्थिति में रखिए और ठोड़ी को छाती से स्पर्श कराते हुए पहले बाईं ओर लेकर जाएं और 2-3 सेकेंड इस स्थिति में रखिए। अब दाईं ओर भी इस प्रक्रिया को दोहराएं।

चेस्ट फुलाएं...

सीधे खड़े हो जाएं और पैरों को कूल्हों की चौड़ाई के हिसाब से दूर-दूर रखें। हाथों को पीठ के पीछे की ओर बांधें। सांस लेते हुए कंधों को पीछे करें और छाती को फुलाएं। कुछ सेकंड रुकें और फिर सांस छोड़ते हुए सामान्य स्थिति में लौटें।

खबरें और भी हैं...