पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Madhurima
  • At This Time, All The Essential Medicines Are Kept In The House, But Some Gadgets Are Also Required To Be In The House, Know About Them ...

सहायक:इस समय ज़रूरी दवाइयां तो सभी घर में रख रहे हैं, लेकिन कुछ गैजेट्स भी घर में होना ज़रूरी हैं, जानिए इनके बारे में...

डॉ. एन. के. सोनी, वरिष्ठ सलाहकार, इंटरनल मेडिसिन विभाग, यथार्थ सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, ग्रेटर नोएडाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना काल में ज़रूरी दवाइयों के साथ-साथ मेडिकल किट में कुछ ज़रूरी सामान भी रखें। आइए जानते हैं वो कौन-से गैजेट्स हैं, जो इस वक़्त आपके घर में ज़रूर होने चाहिए।

मददगार उपकरण

कोरोना संक्रमण का जोखिम बना हुआ है। घर पर हैं इसलिए सुरक्षित हैं। पर संक्रमण हवा में भी और यह किसी के भी ज़रिए घर तक पहुंच सकता है। ऐसे में सावधानी बरतना ज़रूरी है इसलिए सुरक्षा के लिए एक मेडिकल किट तैयार करें। अमूमन घरों में मेडिकल किट होता है जिसमें सामान्य रोगों की ज़रूरी दवाइयां होती हैं। इनके अलावा और ज़रूरी सामान हैं जिन्हें कोरोना काल के समय घर में रखना चाहिए।

भाप के लिए वैपोराइज़र

इस समय कहा जा रहा है कि घर से बाहर से आ रहे हों, तो स्टीम ज़रूर लें। सुबह और शाम दोनों समय स्टीम लेते रहें। यह बंद नाक को खोलने और सर्दी-ज़ुकाम या साइनस जैसे संक्रमण से आराम दिलाने में मददगार है। आमतौर पर किसी बर्तन में पानी गर्म करके और सिर को कपड़े से ढंककर स्टीम ली जाती है। पर वैपोराइज़र समय और मेहनत दोनों से बचाता है। हालांकि स्टीम ज़्यादा देर तक नहीं लेनी चाहिए।

थर्मामीटर

थर्मामीटर तो घर में होता ही है, लेकिन अगर आप चाहें तो इस समय इन्फ्रारेड थर्मामीटर भी रखें। इसकी मदद से आप बिना स्पर्श के तापमान ले सकते हैं। घर का जो सामान्य थर्मामीटर है, उसे हर बार इस्तेमाल करने के बाद अल्कोहल या पैरोक्साइड से साफ़ करें।

ऑटोमेटिक सैनिटाइज़र डिस्पेंसर​​​​​​​

बहुत ज़रूरत पड़ने पर जब कोई घर में आता है, तो उसे सैनिटाइज़र देने के लिए क़रीब तो जाना पड़ेगा। ऐसे में दरवाज़े पर ऑटोमेटिक सैनिटाइज़र डिस्पेंसर लगा सकते हैं। छोटे डिस्पेंसर किफ़ायती हैं इसलिए सुरक्षा के लिहाज़ से इन्हें घर के बाहर लगाया जा सकता है।

पल्स ऑक्सीमीटर

यह डिजिटल डिस्प्ले वाली मशीन है। ऑक्सीजन का स्तर मापने के लिए इसे पहली या मध्यमा उंगली को बीच में रखते हुए रीडिंग ली जाती है। ऑक्सीजन के स्तर में होने वाले छोटे से छोटे बदलाव को भी यह डिवाइस पकड़ लेता है। अगर तबियत ख़राब है या संक्रमण के लक्षण नज़र आ रहे हैं, तो इसके ज़रिए ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल जांच सकते हैं। विशेषज्ञ के मुताबिक़ 94 या उससे अधिक सामान्य होता है, लेकिन अगर यह 90 से नीचे आ रहा है तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें।

खबरें और भी हैं...