पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रंगारंग व्यंजन:नए रंग-ढंग के साथ मनाएं होली के पारम्परिक मीठे और चटपटे व्यंजन

भावना महर्षि21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मीठे चिरौटे​​​​​​​

क्या चाहिए

मैदा- 2 कप, सूजी या रवा- 2 बड़े चम्मच, घी या मक्खन- 2 बड़े चम्मच + 3 बड़े चम्मच, कॉर्नफ्लोर- 3 बड़े चम्मच, इलायची पाउडर- 1 छोटा चम्मच, पिसी शक्कर- 4-5 बड़े चम्मच, दूध- 1 कप, केवड़ा जल- छोटा चम्मच (वैकल्पिक), केसर के रेशे- थोड़े से, तेल- तलने के लिए, पिस्ता- 2 बड़े चम्मच टुकड़े किए हुए, पीला और गुलाबी फूड कलर- कुछ बूंदें।

ऐसे बनाएं

बड़े बोल में मैदा, सूजी, दो बड़े चम्मच घी को चम्मच से मिलाएं। दूध में केवड़ा जल और केसर मिलाएं। इस दूध को मैदे में थोड़ा-थोड़ा डालते हुए गूंधें। पूरी की तरह आटा गूंधना है। मलमल के कपड़े से इसे ढंककर एक तरफ़ रख दें। आटे को दो भागों में बांटें। एक भाग में गुलाबी रंग मिलाएं और दूसरे में पीला रंग। इन्हें अच्छी तरह से गूंधें ताकि रंग मिल जाए। दोनों भागों को कपड़े से ढंककर बीस मिनट के लिए रखें। तब तक अलग बोल में पिसी शक्कर और इलायची पाउडर मिलाएं। एक छोटे बोल में तीन बड़े चम्मच घी में कॉर्नफ्लोर मिलाकर पेस्ट तैयार करके एक तरफ़ रख दें। आटे के दोनों हिस्सों को तीन बराबर भागों में बांटकर लोइयां तैयार करें। इन्हें बेल लें।

अब एक रंग की रोटी पर घी और कॉर्नफ्लॉर का पेस्ट लगाएं। इसके ऊपर दूसरे रंग की रोटी रखें और इस पर भी घी और कॉर्नफ्लॉर का मिश्रण लगाएं। इसी तरह एक-एक करके रोटियों पर पेस्ट लगाते हुए दूसरे रंग की रोटी रखते जाएं। सबसे आखिरी रोटी के ऊपर पेस्ट लगाएं और अब रोटी की इन परतों का एक किनारा पकड़कर अंदर की तरफ़ रोल करें। इस रोल को तेज़ चाकू से पतला-पतला काट लें। जब इन्हें काटेंगे, तो इनमें परत नज़र आएगी। हर हिस्से को हल्का सा पूरी की तरह बेलकर पतला कर लें। कड़ाही में तेल गर्म करें और इन पूरियों को धीमी आंच पर दोनों तरफ़ से तल लें। चिरोटों को एक प्लेट में निकाल लें और ऊपर से पिसी शक्कर डालकर मिला लें। इन्हें प्लेट में रखकर ऊपर से कटे हुए पिस्ते डालकर परोसें या हवाबंद डिब्बे में स्टोर करें।

चिक्कालू (राइस क्रैकर्स)

क्या चाहिए

चावल का आटा- 1 कप, मक्खन- 1 बड़ा चम्मच, चना दाल- 1 बड़ा चम्मच, नमक- छोटा चम्मच, लाल मिर्च पाउडर- छोटा चम्मच, कढ़ी पत्ता- 8-10, अदरक का पेस्ट- छोटा चम्मच, 2 हरी मिर्च का पेस्ट, जीरा- छोटा चम्मच।

ऐसे बनाएं

चना दाल को धोकर आधे घंटे के लिए भिगो दें। बड़े बोल में चावल का आटा, नमक, जीरा, लाल मिर्च पाउडर, अदरक का पेस्ट, कढ़ी पत्ता और हरी मिर्च का पेस्ट मिलाएं। इसमें चना दाल भी डाल दें। अब छह बड़े चम्मच पानी गर्म करें और इसमें एक छोटा चम्मच मक्खन पिघलाएं। इसे चावल के आटे के मिश्रण में डालें। पानी गर्म होने के कारण आटा गर्म हो जाएगा इसलिए सावधानी से इसे मिलाएं। थोड़ा और गर्म पानी डालकर आटा मिलाएं। इसे गूंधना नहीं है, उंगलियों से केवल मिलाना है। नमक कम लगने पर थोड़ा और मिला सकते हैं। मिश्रण को कुछ मिनट के लिए ढंककर रख दें। कड़ाही में तेल गर्म करने के लिए रख दें। इस बीच मिश्रण की चौदह-पंद्रह समान आकार की लोइयां बनाएं। साफ़ और सूखे कपड़े या पार्चमेंट पेपर पर लोई रखें। उंगलियों को पानी में भिगोएं और लोई को फैलाते हुए गोल आकार दें। चीक्कालू पतले और बराबर बनाने की कोशिश करें। तलते वक़्त ये फूलें नहीं, इसके लिए चाकू या फोर्क से हल्के-हल्के छेद करें। इन्हें गर्म तेल में डालकर भूरा होने से पहले ही निकाल लें। जब ये सुनहरा और कुरकुरा हो जाएगा, तो तेल में बुलबुले उठने बंद हो जाएंगे। इन्हें निकालकर ठंडा कर लें और जार में स्टोर करें।

रोज़ छेना मुरकी

क्या चाहिए

पनीर- 250 ग्राम, शक्कर- 1 कप, पानी- कप, रोज़ सिरप- 1 बड़ा चम्मच, दूध- 1 बड़ा चम्मच।

ऐसे बनाएं

पनीर को छोटे-छोटे चौकोर टुकड़ों में काटें। सिरप बनाने के लिए पानी में शक्कर डालकर आंच पर चढ़ाएं। शक्कर घुलने तक चलाते रहें। शक्कर घुल जाने पर दूध मिलाएं। इसे पकाते वक़्त ऊपर बन रहे झाग को चम्मच से हटाते जाएं। चाशनी में एक तार बनने तक इसे पकाना है। इसमें रोज़ सिरप और पनीर डालकर अच्छी तरह मिलाएं ताकि चाशनी पनीर में अच्छी तरह लिपट जाए। आंच बंद कर दें। चम्मच से इसे तब तक घुमते रहें जब तक पनीर पर चाशनी की मोटी परत न बन जाए और टुकड़े अलग-अलग न हो जाएं। तैयार छेना मुरकी को प्लेट या छोटी हांडी में रखकर परोसें।

बादाम पिस्ता गुझिया

क्या चाहिए

मैदा- 2 कप, सूजी या रवा- 1 बड़े चम्मच, शक्कर- 1 बड़े चम्मच, बेकिंग सोडा- 1/8 छोटा चम्मच, घी- कप, पानी- आटा गूंधने के लिए। भरावन के लिए- मावा / खोया- 250 ग्राम, नारियल का बूरा- 2 बड़े चम्मच, पिसी शक्कर – कप, बादाम- 2 बड़े चम्मच दरदरा पिसा हुआ, पिस्ता- 2 बड़े चम्मच दरदरा पिसा हुआ, हरी इलायची पाउडर- छोटा चम्मच, थोड़ा सा खड़ा पिस्ता सजाने के लिए। चाशनी के लिए- शक्कर- कप, पानी- कप, थोड़ा सा केसर, तेल- तलने के लिए।

ऐसे बनाएं

मावे को कद्दूकस करें या मसल लें। भारी तले के पैन में इसको धीमी आंच पर भूनें। जब ये हल्का भूरा हो जाए, तो नारियल बूरा डालकर दो मिनट तक चलाते हुए भूनें। इसमें बादाम और पिस्ता मिलाकर आंच बंद करें और इसे एक तरफ़ रख दें। जब मावे का मिश्रण गर्म रहे, तो इसमें शक्कर डालकर अच्छी तरह से मिलाएं और एक तरफ़ रख दें। अब मैदा, सूजी, शक्कर, बेकिंग सोडा और देसी घी को बोल में डालकर मिलाएं और थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए आटा गूंधें, जो न ज़्यादा मुलायम हो, न ज़्यादा कड़क। इसे हल्के गीले कपड़े से ढंककर आधे घंटे के लिए रख दें। अब आटे को दो भागों में बांटें। इन्हें पतला बेलकर कुकी कटर से काट लें। सभी भागों को इसी आकार में काटें और चौकोर रखते हुए हल्का सा बेलें। एक पट्टी के बीच में भरावन रखें। पट्‌टी के चारों तरफ़ हल्का सा पानी लगाएं। इसके ऊपर एक और पट्‌टी रखें। फोर्क से चारों तरफ़ से इसे दबाते हुए बंद करें। सभी गुझियों को इसी तरह से तैयार करें। कड़ाही में तेल गर्म करें। इसमें गुझियों को मध्यम आंच पर हल्का भूरा होने तक तलें। शक्कर और पानी को आंच पर चढ़ाकर चाशनी बनाएं। शक्कर घुल जाने पर केसर मिलाएं। थोड़ी सी चाशनी को हल्का ठंडा करके अंगूठे और उंगली के बीच रखकर जांचें। इसमें तार नहीं होगा, लेकिन शहद जैसी चिपचिपी होगी। गुझिया गर्म हो तभी चाशनी में डुबोकर निकाल लें। ठंडा करके ही जार में स्टोर करें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें