पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Madhurima
  • Change The Rules Of Social Behavior In The Corona Period, Take Care Of The People Around You Along With Your Convenience

समझदारी:कोरोनाकाल में सामाजिक व्यवहार के कायदे बदलें, अपनी सहुलियत के साथ आसपास के लोगों का भी ध्यान रखें

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

घरबंदी के बावजूद मोहल्ले या सोसायटी में निकलना तो होता ही है। मौजूदा हाल में संक्रमण के ख़तरों के चलते सामाजिक व्यवहार के क़ायदे बदले हैं, जो सबकी सुरक्षा के लिए उचित हैं। ऐसे ही क़ायदों से जुड़े चंद सुझाव देखिए, ग़ौरतलब है के तहत अंदर के पृष्ठों पर...

दरवाज़े की सीमा मानें

जब अकेले या परिवार के साथ दरवाज़े के सामने कुर्सी लगाकर बैठते हैं, तो फ्लैट के सामने कम जगह होने के कारण जाने-अनजाने कुर्सियां अक्सर पड़ोसियों के दरवाज़े तक खिसक जाती हैं। शाम के वक़्त अपने घर के बाहर दरवाज़े के सामने कुर्सी लगाकर खुले आसमान तले हवा का आनंद लेते समय दूसरों का भी ध्यान रखें। वैसे तो किसी के दरवाज़े पर बैठना उचित नहीं है, लेकिन कोरोनाकाल में सुरक्षित भी नहीं है। ऐसे में कुर्सियां आपके दरवाज़े तक ही सीमित रहें यह सुनश्चित करें। वहीं दरवाज़े की तरफ़ पीठ करके बैंठे और मास्क लगाएं, ताकि पड़ोसी सुरक्षित महसूस करें। किसी-किसी कॉलोनी में जगह कम होती है यहां से कभी-कभी वाहन भी निकलते हैं ऐसे में रोड पर कुर्सियां रखकर न बैठें।

परेशानी न बने

कई बार हमारी सहूलियत दूसरों के लिए मुश्किलें पैदा कर देती हैं। ख़ासतौर पर तब जब एक दीवार के रेखांकन से दो घर विभाजित हों। अनाज सुखाने के लिए बर्तन या कोई अतिरिक्त वस्तु दीवार पर रखना आपके लिए सहुलियत-भरा होगा, लेकिन दूसरों के लिए नहीं। अगर अनाज सुखाना है, तो आंगन में टेबल लगाकर उस पर बर्तन रख सकते हैं। वस्तु उस दीवार पर रखें, जो पड़ोसी के हिस्से न आती हो।

बाहर से बात करें

कोरोनाकाल में किसी के घर न आने-जाने की सलाह दी गई है। आस-पड़ोस में रहने वाले लोगों से भी सामाजिक दूरी बनाए रखना है। ऐसे में अगर किसी से बात करनी है, तो उचित दूरी बनाए रखें। अगर ज़रूरी काम है, तो उनसे पूछे बिना दरवाज़ा खोलकर अंदर न जाएं। अगर किसी कारणवश किसी और के घर के अंदर जाना पड़े, तो जूते या चप्पल घर के बाहर ही उतारें। इससे उन्हें असुविधा नहीं होगी। वहीं किसी वस्तु को छुएं नहीं और मास्क लगाए रखें। यह ना सोचें कि आप घर पर हैं इसलिए आपको मास्क लगाने या दूरी बनाने की आवश्यकता नहीं है।

अंदर रहें ़जुकाम में

अगर सामान्य खांसी या सर्दी-ज़ुकाम हो रहा है, तो घर से बाहर बिना मास्क के ना निकलें। खांसते वक़्त मुंह पर कपड़ा या रुमाल रखें, हालांकि घर में ही रहने की कोशिश करें। घर के बाहर ना टहलें और ना ही बैठें। आपकी खांसी या ज़ुकाम से पड़ोसियों की चिंता बढ़ सकती है। अगर इस स्थिति में आप बाहर निकलेंगे, तो आस-पास के लोगों को असुविधा होगी और वो आंगन तक में नहीं बैठ पाएंगे। अगर आपको खुली हवा में बैठना भी है, तो छत या बालकनी में बैठें। इससे आपको सहूलियत होगी और दूसरों को भी।

खबरें और भी हैं...