पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Madhurima
  • Children Are Now Getting Bored In Studying Online, How Do They Feel And Solve The Problem Of Not Getting Bored.

पठन-पाठन:ऑनलाइन पढ़ाई करने में बच्चे अब ऊबने लगे हैं, कैसे उनका मन लगे और ऊब न हो इसका हल निकालते हैं

गौतम दिघे2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्क्रीन पर नज़र जमाए रखकर ध्यान से सुनना और नोट करना आसान काम नहीं है, ख़ासतौर पर बच्चों के लिए। लिहाज़ा वे ऊब जाते हैं। लेकिन ज्ञानार्जन के लिए क्लास में ध्यान तो लगाना ही होगा।

ऑनलाइन पढ़ाई को लेकर अक्सर बच्चे ऊब व्यक्त करते हैं। सही भी है, क्लासरूम की गतिविधियां और जीवंतता ऑनलाइन क्लास में नहीं हो सकती, लेकिन कोरोना काल की अनिवार्यता के लिए फिलहाल कोई और चारा भी नहीं है। इसलिए, ऑनलाइन को ही रोचक और लर्निंग से भरा बनाना होगा।

क्लास दो तरह से हो रही है, एक तो रिकॉर्डेड लेक्चर के ज़रिए, जहां विद्यार्थी को केवल स्क्रीन के सामने बैठकर लेक्चर सुनना होता है और दूसरा तरीक़ा है, लाइव शिक्षण का जिसमें टीचर ऑनलाइन टूल्स से विद्यार्थियों को पढ़ाते हैं। लाइव क्लास में बोरियत को दूर रखना आसान है और सीखना भी।

- क्या आप मन से क्लास में बैठते हैं? यह प्रश्न बच्चे ख़ुद से पूछें, ईमानदारी से। अधिकाशत: ऐसा होता है कि माता-पिता याद दिलाते हैं कि क्लास का टाइम हो रहा है, बैठो, पढ़ो। बार-बार ठेलने से काम करने में ख़ुद की रुचि नहीं होती। अरुचि से किए काम से ऊब तो होगी ही। इसलिए बच्चों को ख़ुद क्लास के लिए पहल करनी होगी, पूरे उत्साह से क्लास की तैयारी करें।

- क्या क्लास के बाद दोबारा पढ़ते हैं? यह महत्वपूर्ण है। आजकल इंटरनेट पर बहुत सारी जानकारियां उपलब्ध हैं। जो पढ़ा है, उससे जुड़ी जानकारियां ढूंढना और पढ़ना ना सिर्फ़ पढ़ाई के प्रति रुचि बढ़ाएगा, बल्कि बहुत सारी अतिरिक्त नॉलेज मिलेगी। जब तैयारी अच्छी होगी, तो अगली क्लास के लिए बच्चे दोगुने उत्साह का अनुभव करेंगे।

- क्लास में टीचर से प्रश्न करते हैं? क्लास रूम में संवाद होगा, सही प्रश्न पूछे जाएंगे, तो सीखने का आधार भी अच्छा बनेगा। अगर बच्चे अपने विषय को पढ़कर क्लास के लिए बैठेंगे, तो सही प्रश्नों के ज़रिए अर्जित ज्ञान को मज़बूती दे पाएंगे।

- मोबाइल में ध्यान लगा रहता है? देखा गया है कि ऑनलाइन क्लास लेने वाले 85 प्रतिशत बच्चे मोबाइल के नोटिफिकेशंस पर नज़रें गड़ाए रहते हैं, जिससे उनका ध्यान केंद्रित होने की बजाय लगातार भटकता रहता है। मोबाइल के नोटिफिकेशन बंद कर देना इसका हल है।

खबरें और भी हैं...