पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Madhurima
  • Most Of The People Keep Personal Information In Smart Phone, Whether It Is Personal Photo Or Important Information Related To Bank Account, So It Is Important To Take Care Of The Security Of Smart Phone As Well.

तकनीक:स्मार्ट फोन में अधिकतर लोग निजी जानकारी रखते हैं, फिर चाहे निजी फोटो हो या फिर बैंक अकाउंट से संबंधित ज़रूरी जानकारी, इसलिए स्मार्ट फोन की सुरक्षा का भी ख़्याल रखना ज़रूरी है

काज़िम रिज़वी, संस्थापक, द डायलॉग12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्मार्ट फ़ोन विज्ञान और तकनीक की अनमोल देन है जिसने हर क्षेत्र में अनेकों सुविधाएं दी है। लेकिन इसका इस्तेमाल सुरक्षित तरीक़े से करना भी ज़रूरी है, ताकि मुश्किल में पड़ने से बचा जा सके।

स्मार्ट फोन की हमारी ज़िंदगी में अहम जगह बन गई है। इसमें हमारा निजी डाटा जैसे कि हमारी निजी तस्वीरें, वीडियो और यहां तक कि बैंक संबंधी संवेदनशील जानकारी भी स्टोर रहती है जिसकी वजह से यह साइबर हैकर्स के निशाने पर रहते हैं। ऐसे में यह अत्यंत ज़रूरी है की हम स्मार्टफोन के इस्तेमाल में सावधानी बरतें और अपने निजी डाटा को सुरक्षित रखने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखें।

किसी भी अविश्वसनीय लिंक को ना खोलें
यदि आपको अनजान नंबर से सोशल मीडिया अकाउंट पर या एसएमएस पर कोई ऐसी लिंक भेजता है जिसके बारे में आपको ना पता हो, तो उस लिंक को ना खोलें। यदि आप लिंक भेजने वाले व्यक्ति को जानते हैं, तो पहले उनसे यह पूछें कि यह लिंक किस लिए है? यदि कोई संतोषजनक उत्तर मिले तो ही उस लिंक को खोलें अन्यथा ना खोलें। किसी भी अविश्वसनीय लिंक को खोलने मात्र से आपके फ़ोन व लैपटॉप आदि को नुकसान हो सकता है ।

फ्री सामान का लालच देने वाली साइटों को ना खोलें
कई वेबसाइट्स पर आकर्षक मैसेज व फोटो दिखते हैं जिसमें लोगों को फ्री सामान का लालच देकर फॉर्म भरवाया जाता है। फिर उनसे दस अन्य लोगों को इस लिंक को भेजने के लिए प्रेरित किया जाता है। ऐसी वेबसाइट्स से दूर रहना चाहिए और इस तरह का लिंक किसी और को भी नहीं भेजना चाहिए। ऐसे कई वेबसाइट्स डाटा को चोरी कर सकते हैं।

अविश्वसनीय क्यूआर कोड को स्कैन ना करें
आजकल यूपीआई के माध्यम से पैसों का लेन-देन करना बहुत आसान हो गया है। किन्तु साथ ही साथ, हमें यह भी सावधानी रखनी चाहिए कि हम किसी अनजान क्यूआर कोड को स्कैन ना करें और ना ही ऐसे क्यूआर कोड पर पैसे भेजें। यदि आप किसी भी दुकान पर यूपीआई का इस्तेमाल करते हैं, तो दुकानदार से क्यूआर कोड स्कैन करने के पश्चात् फोन में आने वाले नाम को ज़रूर सत्यापित करवा लें जिससे कि आपको भरोसा हो जाए कि पैसे दुकानदार को ही जा रहे हैं।

डाटा स्टोर करने का तरीक़ा बदलें
लोग अक्सर गूगल ड्राइव या अन्य क्लाउड को इंटरनेट पर डेटा स्टोर करने के लिए इस्तेमाल करते हैं लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से हमें ऐसे बैकअप बनाने से बचना चाहिए। ख़ासकर सोशल साइट चैट या गैलरी का बैकअप, क्योंकि डेटा वहां से हैक हो सकता है। ड्राइव की जगह हमें अपना डाटा पेन-ड्राइव या हार्ड डिस्क में स्टोर करके रखना चाहिए।

खबरें और भी हैं...