पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Madhurima
  • Offer Delicious Shrikhand, Sandesh And Rabri Sweets To Ganesh Ji, Together Make Modak From Fruits, Know The Method Of Making Them Here

मिठाई का प्रसाद:गणेश जी को लगाएं स्वादिष्ट श्रीखंड, संदेश और रबड़ी की मिठाई का भोग, साथ में बनाइए फल से मोदक, इन्हें बनाने की विधि यहां जानिए

श्रुति धवन7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गाजर का हलवा और रबड़ी

क्या चाहिए

हलवे के लिए— गाजर- 1/2 किलो, दूध- 2 कप, शक्कर- 2 कप, दालचीनी पाउडर- छोटा चम्मच, घी- 2 बड़े चम्मच।

रबड़ी के लिए— दूध पाउडर- 1 1/2 कप, कंडेंस्ड मिल्क – 100 ग्राम, फेटी हुई क्रीम- 250 मि.ली, दूध- 1 कप, हरी इलायची पाउडर- थोड़ी सी, केसर- थोड़े से।

अन्य सामग्री— सूखे मेवे (पिस्ता, काजू, अखरोट और बादाम) – 2 बड़े चम्मच कटे हुए।

ऐसे बनाएं

  • गाजर को छीलकर कद्दूकस करें। अब भारी तले के बर्तन में दूध उबालें। इसमें कद्दूकस की हुई गाजर डालकर मध्यम आंच पर चलाते हुए पकाएं। जब दूध गाढ़ा हो जाए, तो इसमें शक्कर मिलाएं। इसे मध्यम आंच पर तब तक चलाते हुए पकाते रहें जब तक इसका पनीला पन दूर ना हो जाए। इसके बाद दूध और गाजर के मिश्रण को देसी घी में चलाते हुए भूनें ताकि बची हुई नमी भी ख़त्म हो जाए। जब इसमें से ख़ुशबू आने लगे, तो आंच बंद कर दें। गाजर का हलवा तैयार है।
  • अब बनाएंगे झटपट तैयार होने वाली रबड़ी। इसके लिए पैन में दूध पाउडर, कंडेंस्ड मिल्क, दूध, क्रीम, दालचीनी पाउडर और केसर के कुछ रेशे मिलाएं। इसे दो-तीन मिनट तक धीमी आंच पर चलाते हुए पकाएं। जब यह गाढ़ी हो जाए, तो आंच बंद कर दें।

परोसने का तरीका

कप केक के सांचे में गाजर का हलवा डालें और चम्मच या उंगली से दबाते हुए मोल्ड का आकार दें। इससे गाजर का हलवा मोल्ड का आकार ले लेगा। इसे पांच-छह घंटे के लिए फ्रिज में रखें। जब यह ठंडा होकर जम जाए, तो मोल्ड से गाजर के कप को निकालें। इसमें ठंडी-ठंडी रबड़ी डालें। ऊपर से कटे हुए सूखे मेवे डालकर भोग लगाएं।

अमरूद मोदक

क्या चाहिए

दूध पाउडर- कप, नारियल- 1 कप कद्दूकस किया हुआ, क्रीम या मलाई- 1/2 कप, शक्कर पाउडर- 2 बड़े चम्मच, अमरूद पेस्ट-2 बड़े चम्मच, दालचीनी- छोटा चम्मच, नारंगी फूड कलर- 1 बूंद, पिस्ते- कटे हुए।

ऐसे बनाएं

  • पिस्ते और नारंगी रंग छोड़कर सारी सामग्री पैन में डालें।
  • मध्यम आंच पर पैन चढ़ाएं और सामग्री को चलाते हुए अच्छी तरह से मिलाएं ताकि अमरूद का पेस्ट बाकी सामग्री के साथ मिल जाए। क़रीब चार मिनट तक चलाएं।
  • जब मिश्रण पैन का तल और किनारे छोड़ दे, तो आंच बंद कर दें। मिश्रण को ठंडा करें। नारंगी रंग डालकर अच्छी तरह से गूंधें।
  • मिश्रण को सांचे में भरकर या हाथों से मोदक का आकार दें। ऊपर से पिस्ता लगाकर भगवान को चढ़ाएं।

रोज़ श्रीखंड

क्या चाहिए

गाढ़ा दही (हंग कर्ड)- 500 ग्राम, शक्कर का बूरा- 1 बड़ा चम्मच, गुलकंद- 1 बड़ा चम्मच, कटे हुए पिस्ते और गुलाब की पंखुड़ियां- सजाने के लिए।

ऐसे बनाएं

  • सजावट की वस्तुएं छोड़कर शेष सामग्री एक बड़े बोल में डालकर अच्छी तरह से मिलाएं।
  • ध्यान रहे दही गाढ़ा यानी पानी निथरा ही हो।
  • अब श्रीखंड को कटोरी में डालें।
  • ऊपर से कटे हुए पिस्ते और गुलाब की पंखुड़ियां डालकर सजाएं।
  • भोग लगाने के लिए श्रीखंड तैयार है।

लेमन संदेश

क्या चाहिए

मलाई वाला दूध (फुल क्रीम मिल्क)- 1 लीटर, नींबू का रस – 2 बड़े चम्मच, पानी – 2 बड़े चम्मच, शक्कर पाउडर – 1/2 कप, नींबू का एसेंस- 10 से 15 ड्रॉप, हल्दी- 1 चुटकी, नींबू के छिलके की खुरचन (ज़ेस्ट)।

ऐसे बनाएं

बोल में नींबू का रस और पानी मिलाएं। अब दूध गर्म करें। जब उबाल आए, तो नींबू पानी का घोल इसमें मिलाएं। दूध फटने के बाद छेना और पानी अलग कर लें। छेने को प्लेट में निकालकर चिकना होने तक गूंधें। शक्कर, नींबू का एसेंस और हल्दी पाउडर डालकर मिलाएं। इसे दो-तीन मिनट तक गूंधें। धीमी आंच पर पैन गर्म करें। इसमें छेना डालकर कुछ मिनट पकाएं। छेने को ठंडा करके गोलियां बनाए और हथेली पर रख कर हल्का सा दबाएं। प्लेट में इन्हें रखकर ऊपर से नींबू के छिलके की खुरचन डालें और भोग लगाएं।

खबरें और भी हैं...