• Hindi News
  • Madhurima
  • Photos Keep The Memories Alive, Especially In Marriage, The Story Of Every Moment Is Known From Them, Let's Know How To Take Pictures At The Time Of Marriage.

छवि संयोजन:तस्वीरें यादों को जीवंत बनाए रखती हैं ख़ासकर शादी-विवाह में हर पल की कहानी इन्हीं से पता चलती है, शादी के समय कैसी तस्वीरें लें आइए जानते हैं

रंजना16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शादी को यादगार उसकी तस्वीरें बनाती हैं, जो ऐसी होनी चाहिए कि शादी की कहानी बयां करें। इस पक्ष की मज़बूती सबसे ज़्यादा ज़रूरी है। हर तस्वीर में दिखती है विवाह की कहानी

भारतीय शादियों में फोटोग्राफी का महत्व केवल तस्वीरों को इकट्‌ठा करने तक सीमित नहीं है। तस्वीरें शादी का पूरा माहौल हैं, जिसकी तैयारियां करता परिवार, सजावट, खाते हुए मेहमान, नाचते हुए बाराती, शगुन का लेन-देन और एक-एक पल नज़र आता है। कुछ तस्वीरें इतनी स्वाभाविक होती हैं जो यादें बनने के साथ चेहरे पर मुस्कान दे जाती हैं। ऐसे में कुछ पल ऐसे भी हो सकते हैं, जो फोटोग्राफर से छूट जाएं क्योंकि उनके कुछ अपने सेटअप्स और तरीक़े होते हैं। कहीं पोज़ ज़रूरी है, तो कहीं स्वाभाविकता ही अच्छी लगती है, जिन पलों को आप कैमरे में कैद कराना चाहते हैं, उन्हें पहले से तय करके मनमुताबिक़ तस्वीरें खिंचवा सकते हैं।

कैंडिड तस्वीरें ना भूलें
कुछ तस्वीरें कैंडिड यानी स्वाभाविक ही ख़ूबसूरत लगती हैं, इसलिए उन्हें पोज़ में ना बांधें। ऐसे में फोटोग्राफर से कहें कि वो उन पलों की स्वाभाविक तस्वीरें ले, जो लम्हे अवसर के साक्षी बनते हों जैसे अंगूठी पहनाते लड़का-लड़की, मांग भरता दूल्हा, दुल्हन की बलाएं लेती मां या नानी-दादी, दूल्हा और दुल्हन की बात करती हुई और सबकी हंसती-मुस्कराती हुई तस्वीरें, ढोलक बजाते हुए रिश्तेदार, हल्दी और संगीत में चेहरे के बदलते हाव-भाव।
दुल्हन का पोर्ट्रेट शॉट
दुल्हन का पोर्ट्रेट शॉट लेना बिल्कुल ना भूलें। कुछ तस्वीरें मेकअप करती हुई लें और कुछ में ज़ेवर पहनते हुए। जब दुल्हन सज जाए, तो क़रीब से चेहरे की तस्वीर भी लें। इसमें दुल्हन का शृंगार बारीकी से नज़र आएगा। तैयार होने से लेकर दुल्हन बनने तक की कहानी ये तस्वीरें बताएंगीं।
तस्वीर अपनों के संग
बेटी की साड़ी की प्लेट व्यवस्थित करते हुए मां की तस्वीर बेहद सुंदर लगेगी। मां के अलावा तस्वीरों में सहेलियां भी जचेंगीं। लहंगे का दुपट्‌टा सिर पर रखते हुए माता-पिता की तस्वीरें भी ली जा सकती हैं। वहीं जब पिता लड़के को सेहरा पहना रहे हों, तब भी तस्वीर खींच सकते हैं।
परदे के पीछे
शादी की तस्वीरों में सब व्यवस्थित और ख़ूबसूरती से नज़र आते हैं। लेकिन इन तस्वीरों के पीछे छिपे पलों की तस्वीरें बहुत कम देखने को मिलती हैं। पोज़ देने के लिए होने वाली खींचातानी, तैयारियों की थकान और साथ बैठे परिवारों की गपशप भी यादों के तौर पर कैमरे में कैद करें।
एंगल में बदलाव करें
तस्वीरों में एंगल की अहम भूमिका होती है। कुछ तस्वीरों में ओवरहेड शॉट का इस्तेमाल करें। दुल्हन हाथों की मेहंदी ऊपर की तरफ़ दिखाते हुए तस्वीर खिंचा सकती है। मांग भरते वक़्त अमूमन तस्वीरें सामने से ली जाती हैं, लेकिन इस मौक़े पर ओवरहेड एंगल से ज़्यादा अच्छी तस्वीर आएगी। इसमें फोकस मांग पर होगा। इसके अलावा कन्यादान के वक़्त भी ओवरहेड शॉट का इस्तेमाल कर सकते हैं।
कुछ नया आज़माएं
कुछ तस्वीरें ब्लैक एंड वाइट हो सकती हैं, जैसे कि दुल्हन के चेहरे की तस्वीर। इसी तरह सगाई की अंगूठी की तस्वीर लेते वक़्त अंगूठियों पर कलर पॉप का इस्तेमाल करें। कलर पॉप यानी कि ब्लैक एंड वाइट तस्वीर केवल हाथों की होगी, अंगूठियों की नहीं। लाइट और शैडो इफैक्ट भी आज़मा सकते हैं, जिसमें दुल्हन के साथ उसकी परछाई भी होगी।

खबरें और भी हैं...