पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्व-परीक्षण:कई छोटी-छोटी आदतें ऐसी होती हैं जिनसे लोग आपको परख लेते हैं, इसलिए ज़रा ख़्याल रखें...

पद्मा18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चंद आदतें ऐसी होती हैं, जिनसे इंसान के बारे में राय बना ली जाती है।
  • इन आदतों के प्रति सावधान रहना बेहतर है। जी हां, आप चाहें या ना चाहें, लोग आपके बारे में कुछ ना कुछ तय कर लेते हैं, जब वे आपको इन पैमानों पर परखते हैं...

बात करते कहीं और देखना

जिनसे आप बात कर रहे हैं अगर आप उनके चेहरे या आंखों की तरफ़ देखकर बात नहीं करते हैं, तो उन्हें अंदाज़ा हो जाता है कि बात करने में या उनसे मिलने में आपकी कोई रुचि नहीं है। इस तरह का रवैया आपकी ग़लत छवि बना सकता है। ध्यान दीजिएगा।

बात करते समय मुंह बनाना

यूं तो मुस्कराकर बात करना अच्छा माना जाता है, लेकिन अगर ऐसा करना ना भी चाहें, तो भी अगर आड़े-तिरछे मुंह बनाकर बात ना करें, तो बेहतर। जहां बात करने वाले का मन ख़राब होगा, वहीं देखने वालों का भी आपसे बात करने से मन हट जाएगा।

ना सुनने की भंगिमाएं

अगर कोई आपसे बात कर रहा है और आप यहां-वहां देख रहे हैं, समय-समय पर उचित प्रतिक्रिया नहीं दे रहे हैं, अपने आपको किसी और काम में उलझाए हुए हैं, तो इसे वो अपना अपमान भी मान सकता है। आपको रूखे स्वभाव का भी ठहरा सकता है। ग़ौर कीजिएगा।

फोन पर बतियाते रहना

कोई आपसे मिलने आए और आप फोन पर व्यस्त होते रहें, तो आपके बारे में ‘व्यस्त व्यक्ति’ की राय नहीं बनेगी बल्कि आपको दिखावा करने वाला या नकली कहा जाएगा क्योंकि कोई व्यक्ति इतना व्यस्त नहीं होता कि किसी को दस मिनट का समय न दे सके।

कर्मचारियों से व्यवहार

जो आपकी मदद कर रहे हैं, जैसे चाय देने वाले या सफ़ाईकर्मी, इनसे बेअदबी से पेश आते हैं, तो आपको घमंडी और चिड़चिड़ा माना जाएगा। जो मददगार हैं और जो किसी ना किसी रूप में आपको कोई सेवा ही प्रदान कर रहे हैं, उनके साथ सभ्यता से पेश आना चाहिए।

नर्वस हैबिट्स का असर

नाख़ून चबाना, पेन को खोलना-बंद करना, होंठ चबाना- ये नर्वस हैबिट्स हैं, जिनका होना आत्मविश्वास की कमी का सीधा लक्षण है। अगर ऐसी आदत है, तो उन्हें दूर कर लें। इन आदतों के कारण किसी को अंदाज़ा नहीं लगाना पड़ेगा, कमी यूं ही ज़ाहिर हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...