पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काम होगा आसान:तकिए के पुराने गिलाफ को दोबारा काम में लाएं, कपड़ों का कवच और सफ़ाई का साथी बनाएं

12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तकिए के पुराने गिलाफ या तो यूं ही अलमारियों या दराज़ों में कोनों में पड़े रहते हैं या झाड़न के तौर पर काम में लिए जाते हैं।
  • इनके बेहतर इस्तेमाल भी हो सकते हैं।
  • कुछ तो इतने कारगर हैं कि आप तुरंत ही उनको आज़माने को लालायित हो उठेंगे।

क़ीमती कपड़ों का रक्षक

तकिए के सूती खोल क़ीमती साड़ियों, शेरवानी व कोट आदि को रखने का अच्छा ज़रिया बन सकते हैं। साड़ी को इसमें रखकर खोल के किनारों को फोल्ड कर दें। सारे कपड़ों को पुराने कवर्स में रखकर, किसी सूटकेस या अलमारी के खाने में जमाकर, उसमें नेफ्थलीन बॉल्स डाल दें। अगर आपने क़ीमती साड़ियों को हैंगर में लटकाया है, तो दूसरे कपड़ों की रगड़ से उनकी ज़री ख़राब हो सकती है। ऐसे में भी गिलाफ काम आ सकते हैं। आप ज़री वाली साड़ियों को कवर करते हुए लटका दीजिए। हालांकि, हैंगर पर लटकी ज़री वाली, सिल्क या अन्य साड़ियों की तहें पलटते रहना चाहिए।

कपड़ों को उलझने से बचाएंगे​​​​​​​

​​​​​​​वॉशिंग मशीन में कपड़े धोते समय लेगिंग्स और टीशर्ट्स के उलझने के कारण ये कपड़े खिंच जाते हैं और जल्दी ही ढीले पड़कर ख़राब होने लगते हैं। इनकी रक्षा पुराने तकिए के गिलाफों द्वारा की जा सकती है। इन कपड़ों को किसी सूती तकिए के कवर में डालकर, कवर का मुंह किसी डोरी से बांध दीजिए और मशीन में डाल दीजिए। कपड़े धुल भी जाएंगे और उलझेंगे भी नहीं। इसी तरह अगर किसी कपड़े के रंग छोड़ने की गुंजाइश हो, तो उसे भी किसी कवर में बंद करके धो सकते हैं। नाज़ुक कपड़ों के साथ भी यह उपाय आज़माया जा सकता है।

जोड़ीदार नहीं मिलते?

यह उपाय पुराने नहीं, बल्कि नए गिलाफों के लिए है। अक्सर ऐसा होता है कि मेहमानों के आने पर या कभी ख़ुद ही बिस्तर की चादरें बदल रहे हों, तो चादर के साथ के मैचिंग गिलाफ नहीं मिलते। हम धोने के बाद दोनों को साथ रखते तो हैं, लेकिन फिर बार-बार कपड़े निकालने में वो इधर-उधर हो जाते हैं। इसका उपाय है कि एक गिलाफ में चादर और दूसरे गिलाफ को तह करके अच्छी तरह रख दें। अब जब निकालेंगे, तो जोड़ियां इधर-उधर नहीं होंगी। इस गिलाफ को अगर मैचिंग बेडकवर हो, तो उसमें लपेटकर रख दें। पूरा सेट साथ ही बना रहेगा।

सफ़ाई के उम्दा साथी

पुराने गिलाफों के झाड़न तो आपने बनाए होंगे, लेकिन पंखों के ब्लेड्स साफ़ करने के लिए आपको गिलाफ के टुकड़े करने की ज़रूरत नहीं है। हर ब्लेड पर गिलाफ चढ़ाकर, हल्का-सा दबाते हुए उतार दें। इससे ब्लेड्स की धूल-गर्द ज़मीन पर या पलंग पर नहीं गिरेगी, गिलाफ के अंदर ही रहेगी। जाले निकालते समय भी झाड़ू के सिरे पर एक पुराना गिलाफ चढ़ा दीजिए, फिर दीवारों व छत को साफ़ कीजिए। मकड़ी के जाले आदि कपड़े पर चिपक जाएंगे, दीवार भी गंदी नहीं होगी और झाड़ू के तिनकों में से जालों को खींचकर निकालने का झंझट भी नहीं होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें