पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Madhurima
  • Your Mobile Data Can Be Stolen On The Pretext Of Phone Charging, The Account Can Be Cleaned

सायबर सुरक्षा:फोन चार्जिंग के बहाने चोरी हो सकता है आपके मोबाइल का पूरा डाटा, खाता हो सकता है साफ

काज़िम रिज़वी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • साइबर अटैक केवल एक लिंक पर क्लिक करने से ही नहीं बल्कि मोबाइल चार्ज करने के दौरान भी हो सकता है। कैसे, जानिए...

फ़र्ज़ कीजिए आप कहीं फंस गए हैं और आपके मोबाइल की बैटरी ख़त्म होने के क़रीब है। इस स्थिति में आप क्या करेंगें?

चार्जर होगा, तो चार्जिंग के लिए प्वाइंट खोजेंगे। अगर प्वाइंट नहीं मिलता है, तो कोशिश करेंगे कि आपको यूएसबी केबल लगी हुई मिल जाए जिससे आप अपना फोन चार्ज कर सकें। पर क्या आप जानते हैं कि ऐसे किसी भी पोर्ट में यूएसबी लगाकर फोन चार्ज करना आपके लिए कितना ख़तरनाक हो सकता है। यह आपके लिए केवल फोन चार्ज करने का ज़रिया होगा, लेकिन इससे आपका डेटा चोरी हो सकती है या आपका बैंक खाता भी खाली हो सकता है।

साइबर अटैक के इस तरीके को कहते हैं- ‘जूस जैकिंग फ्रॉड’

क्या है जूस जैकिंग?

जूस जैकिंग फॉड उपभोक्ता को यूएसबी चार्जिंग पोर्ट के ज़रिए शिकार बनाता है। आपने छोटे रेस्त्रां, होटल या बस स्टैंड, रेलवे जैसे सार्वजनिक स्थानों पर ऐसे यूएसबी चार्जिंग पोर्ट देखे होंगे ताकि आते-जाते लोग अपना मोबाइल चार्ज कर सकें। पर कुछ निजी स्थानों पर ये केवल फोन चार्ज करने का काम नहीं करते, बल्कि मोबाइल का डाटा चुराने के काम में आते हैं। जिस केबल से आप फोन चार्ज कर रहे होते हैं, जालसाज़ या हैकर्स उसी केबल से डाटा कॉपी कर लेते हैं।

कैसे काम करता है?

दरअसल, स्मार्टफोन के यूएसबी से फोन चार्ज होता है और डाटा भी ट्रांसफर हो जाता है। यहीं पर हैकर्स इसका फायदा उठाते हैं। हैकर्स यूएसबी पोर्ट से छेड़छाड़ कर उसे अपनी डिवाइस से जोड़ लेते हैं।

  • जब कोई व्यक्ति इस पोर्ट में अपना फोन चार्ज करने के लिए लगाता है, तो उसी वक़्त हैकर्स फोन से डाटा भी कॉपी कर लेते हैं या फिर मालवेयर इंस्टॉल कर देते है और डेटा कॉपी कर लेते हैं।
  • कॉन्टैक्ट, फोटो गैलरी, मैसेज, फाइल जैसा डाटा कॉपी कर लिया जाता है। यहां तक कि बैंक खाता भी खाली हो सकता है।

ऐसे सुरक्षित रखें डाटा...

  • सार्वजनिक स्थानों पर अनजान केबल से फोन चार्ज नहीं करें। अगर फोन चार्ज करना भी है तो पहले फोन की पावर ऑफ करें और उसके बाद चार्ज करें। कोशिश करें कि किसी यूएसबी केबल से फोन चार्ज करना ही ना पड़े।
  • पावर बैंक साथ लेकर चलें ताकि ज़रूरत पड़ने पर कहीं भी और कभी भी अपना फोन चार्ज कर सकें। घर से निकलने से पहले पावर बैंक और फोन दोनों को पूरी तरह से चार्ज कर लें।
  • मोबाइल के अलावा एक अतिरिक्त मोबाइल फोन घर पर मौजूद है, तो उसे चार्ज करके साथ में रखें। अगर कभी फोन की बैटरी खत्म हो गई और चार्ज करने के लिए पावर बैंक भी नहीं है, तो इस स्थिति में उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आप जिस स्थान पर हैं, वहां प्लग मौजूद है, तो ख़ुद के एडेप्टर के ज़रिए फोन चार्ज करें। किसी भी अन्य के लैपटॉप, कम्प्यूटर केबल से मोबाइल चार्ज करने से बचें।
खबरें और भी हैं...