पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अहा! ज़िंदगी:अहा! ज़िंदगी पत्रिका के मई अंक की चुनिंदा स्टोरीज़ पढ़ें सिर्फ़ एक क्लिक पर

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ज़िंदगी के सफ़र में कौन, कहां मिल जाए, कोई नहीं जानता...

जब दो अजनबी यात्रियों को मिली आरएसी सीट, लेकिन भला कौन जानता था कि आरएसी के ये साथी जीवन की कन्फर्म टिकट पर सफ़र करेंगे

गांधी जी और चैप्लिन दोनों एक-दूसरे से सर्वथा भिन्न थे। गांधीजी तो सिनेमा भी नहीं देखते थे...

महात्मा गांधी और चार्ली चैप्लिन अपने समय के दो विपरीत ध्रुव थे, लेकिन उनके बीच की यह मुलाक़ात आज भी विश्व कल्पना में सजीव बनी हुई है

भारतीय सनातन संस्कृति में राम नाम की त्रिवेणी है, एक परशुराम, दूसरे श्रीराम और तीजे कृष्ण के अग्रज बलराम...

परशुराम वर्ण से ब्राह्मण एवं कर्म से योद्धा थे, 21 बार पृथ्वी को क्षत्रिय विहीन कर दिया था भगवान परशुराम ने

हम प्रार्थनाओं में भी कुछ ना कुछ मांगते रहते हैं, लेकिन मांगना ही तो अड़चन है...

पहले भगवान से बहुत प्रार्थनाएं की, फिर एक दिन ऐसा घटा कि मैंने सभी प्रार्थनाएं बंद कर दीं

अपनी सास या बहू के साथ आप कैसा रिश्ता बनाना चाहती हैं, यह सिर्फ़ और सिर्फ़ आप पर निर्भर करता है...

सास और बहू यदि इन बातों को आत्मसात कर लें तो बहुत सारे बेवजह झगड़ों से आसानी से बचा जा सकता है

प्रकृति, मानव स्वभाव और कोरोना के प्रति मनुष्यों को आगाह करते हैं ये दोहे

आओ हम मिल बांध दें, अफ़वाहों के पैर

सदियों से जापानियों के स्टाइल को एक परिधान परिभाषित करता आया है- किमोनो...

जापान का राष्ट्रीय परिधान है किमोनो, जानिए क्या है यह परिधान और जापानी संस्कृति में क्या है इसका महत्व

शिष्यों को सीख देने के लिए गुरु के पास कई अनोखे उपाय होते हैं...

काम से जी चुराने वाले शिष्यों को गुरुजी ने यूं पढ़ाया पाठ कि उन्होंने फिर कामचोरी से तौबा कर ली

खबरें और भी हैं...