पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जानकारी:मुसीबत में फंसे लोगों के लिए मददगार है यह आसान-सा संकेत, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मिल चुकी है पहचान

पद्मनाभ9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • यह साधारण-सा एक संकेत अंतरराष्ट्रीय संकेत के रूप में प्रचलित हुआ है, जिसके माध्यम से मुसीबत के समय किसी से भी मदद की गुहार लगाई जा सकती है।
  • इसलिए लोगों से अपील की गई कि इसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाएं और सतर्कता से संकेत पर ध्यान दें।

कोरोना के कारण कई तरह के नए नियमों की आज़माइश हुई और लॉकडाउन जैसी चीज़ें पहली बार जानने-समझने को मिलीं। लॉकडाउन के कारण हर कोई अपने घरों में बंद होकर रह गया है और इस कारण घरेलू हिंसा के मामलों में भी सारी दुनिया में वृद्धि हुई है। ऐसे में उन लोगों की मदद करना ख़ासा चुनौती का काम रहा। इसी बाधा से पार पाने के लिए एक ऐसे संकेत की ईजाद की गई, जिससे पीड़ित व्यक्ति बिना कोई शब्द बोले अपनी बात सामने वाले तक पहुंचाकर मदद की गुहार लगा सकता है।

क्या है यह संकेत?
अपनी हथेली को पूरा खोलकर अंगूठे को बीच में रखें। संकेत देने के लिए अंगूठे को बीच में ही रखकर मुट्‌ठी बंद करें और खोलें।
इस संकेत का अर्थ है कि व्यक्ति किसी तरह की मुसीबत में है और उसके साथ घरेलू हिंसा हो रही है या उस पर किसी के द्वारा दबाव बनाया जा रहा है और कोई व्यक्ति ज़बरदस्ती करने की कोशिश कर रहा है।

यूं हुई शुरुआत...
कनाडा में कैनेडियन वीमन्स फाउंडेशन द्वारा गत वर्ष 14 अप्रैल को इस अभियान की शुरुआत हुई।
अप्रैल माह में ही इसे अमेरिकी संस्था ‘वीमन्स फंडिंग नेटवर्क’ का साथ मिला और दुनियाभर के लोगों ने इसे शेयर किया। इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सहायता के संकेत के रूप में पहचान मिली। इस नेटवर्क की प्रेसिडेंट एलिज़ाबेथ ने इस बारे में कहा कि यह मदद किसी भी चीज़ की हो सकती है।
घरेलू हिंसा से परेशान कोई महिला, अपहरण, चाइल्ड ट्रैफिकिंग जैसे मामलों में इस तरह का संकेत पीड़ित व्यक्ति के लिए मददगार हो सकता है।
ख़ास बात यह है कि इसमें सिर्फ़ एक हाथ का इस्तेमाल करके ही यह संकेत आसानी से छिपकर पहुंचाया जा सकता है। आमने-सामने या वीडियो कॉल के माध्यम से कोई भी व्यक्ति मदद की गुहार लगा सकता है, बशर्ते सामने वाला व्यक्ति इस तरह के संदेश से परिचित हो। इसलिए लोगों से यह अपील की गई कि वे इसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाएं और सतर्कता से इस संकेत के ऊपर ध्यान दें। एलिज़ाबेथ बताती हैं कि विशेष तौर पर यह संकेत इस तरह बनाया है कि इसमें एक हाथ का ही उपयोग हो, ताकि छिपकर भी यह संदेश दिया जा सके और आरोपी को इसकी भनक न लगे।

संकेत मिलने पर...
यदि कोई आप तक नीचे दिए संकेत पहुंचाता है तो परिस्थिति को भांपकर स्वविवेक से फ़ैसला लें।
— स्थिति गम्भीर हो और आपको पुलिस की मदद की आवश्यकता हो तो तुरंत 100 नम्बर पर फ़ोन लगाएं।
— बच्चों की मदद के लिए आप राष्ट्रीय हेल्पलाइन नम्बर 1098 पर सम्पर्क कर सकते हैं।
— यदि आपको कोई भी महिला परेशानी में दिखाई दे तो आप अपने राज्य के महिला हेल्पलाइन नम्बर पर या 1091 या 181 पर सम्पर्क करें।

खबरें और भी हैं...