पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Magazine
  • Economist
  • In Tokyo Olympics, 10 To 40 Percent Of Athletes Can Cheat, The Problem Increased Due To Non stop Use Of Stimulant And Energizing Drugs 18 July 2021

डोपिंग की आशंका:टोक्यो ओलिंपिक में 10 से 40 फीसदी एथलीट धोखाधड़ी कर सकते हैं, उत्तेजक और शक्तिवर्धक दवाइयों का इस्तेमाल नहीं रुकने से समस्या बढ़ी

9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

23 जुलाई से होने वाले टोक्यो अोलिंपिक खेलों में ताकत बढ़ाने वाली दवाइयों (डोपिंग) की जांच के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। हालांकि, नई टेक्नोलॉजी और कड़े नियमों के कारण पहले के मुकाबले डोपिंग कठिन हो गई है। लेकिन, 11 हजार एथलीटों में सैकड़ों एथलीट धोखाधड़ी कर सकते हैं। पिछले कुछ वर्षों में खिलाड़ियों के सर्वे के आधार पर अनुमान है कि टोक्यो खेलों में 10% से लेकर 40% तक एथलीट डोपिंग कर सकते हैं।

स्टेरॉयड, एरिथ्रोपोइटिन (ईपीओ) और परफार्मेंस बेहतर करने वाली नई दवाइयों (पीईडी) से खिलाड़ियों की मांसपेशियां और खून बढ़ता है। वे सामान्य मानवों के मुकाबले बहुत अधिक ट्रेनिंग कर सकते हैं। दक्षिण अफ्रीका के स्पोर्ट्स साइंटिस्ट रॉस टकर कहते हैं कोविड-19 के कारण स्थिति ज्यादा बदतर हो गई है। इस बार यात्रा प्रतिबंधों और लॉकडाउन के कारण टेस्टिंग का सिस्टम अस्त-व्यस्त हो गया है। डोपिंग के कारण रूस पर ओलिंपिक में हिस्सा लेने पर प्रतिबंध और डोपिंग बढ़ने से टोक्यो में हर नतीजे पर संदेह का साया रहेगा।

अधिकृत आंकड़ों में डोपिंग की सही तस्वीर सामने नहीं आती है। वाडा के मुख्य ऑपरेटिंग अधिकारी डेविड हाउमैन कहते हैं, अच्छी स्पर्धाओं में 90% डोपर बच जाते हैं। 2011 में एक रिसर्च में ब्लड डोपिंग (खून के जरिये मसल्स में ऑक्सीजन की क्षमता में बढ़ोतरी) का पता लगा है। शोधकर्ताओं ने 2700 एथलीट के नमूनों से निष्कर्ष निकाला कि 14% एथलीट दोषी हैं। कुछ देशों में यह दर 48% रही। 2018 में प्रकाशित एक अन्य स्टडी में दो हजार से अधिक एथलीटों से पूछा गया कि क्या वे डोपिंग कर रहे हैंं। सर्वे वर्ल्ड एथलेटिक्स और पैन अरब गेम्स मे किया गया । पता लगा कि 43.6 एथलीटों ने पिछले वर्ष डोपिंग की है। इस प्रतिशत को टोक्यो में लागू किया जाए तो दवाइयों से अच्छा प्रदर्शन दिखाने वाले एथलीटों की संख्या 4800 होगी।

खबरें और भी हैं...