पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Magazine
  • Economist
  • Many New Billionaires Have Emerged In India From Fields Like Medicine, Technology, Billionaires In 70 Cities Of The Country 28 March 2021

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अर्थव्यवस्था में परिवर्तन के संकेत:भारत में दवा, टेक्नोलॉजी जैसे क्षेत्रों से कई नए अरबपति उभरे, देश के 70 शहरों में हैं अरबपति

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिछले साल अमीरों की सूची में जुड़े नए नाम अर्थव्यवस्था में परिवर्तन के संकेत देते हैं

अरबपतियों की हुुरुन रिपोर्ट में भारतीय नामों पर पहली नजर डालने से लगता है कि ताकतवर लोग और अधिक आगे बढ़े हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि पहले स्थान पर मुकेश अंबानी और दूसरे पर गौतम अडानी हैं। सूची के अन्य सदस्य भारी उद्योगों की बजाय दवा निर्माण और टेक्नोलॉजी सहित भारत के भावी कारोबारों का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे देश के विभिन्न क्षेत्रों के हैं। उनकी संख्या तेजी से बढ़ रही है।

पिछले साल हुरुन रिपोर्ट में रिकॉर्ड 50 अरबपति शामिल हुए हैं। केवल दस बाहर हुए हैं। भारत में 177 अरबपति हैं। 2017 में इनकी संख्या 100 थी। इसमें 30 अरबपति भारतीय एनआरआई को शामिल करें तो इनकी कुल संपत्ति 53 लाख करोड़ रुपए से अधिक है। बौद्धिक पूंजी और कंज्यूमर खर्च से चलने वाले कारोबार भौतिक संपत्ति पर बने व्यवसायों को पीछे छोड़ चुके हैं। अरबपति बनाने वाले कंस्ट्रक्शन जैसे उद्योग गिरावट की ओर हैं। इस वर्ष के 12 नए भारतीय अरबपति दवा निर्माण क्षेत्र से जुड़े हैं। हुरुन रिपोर्ट में इनकी संख्या 39 है। नौ अरबपति कंज्यूमर गुड्स के बिजनेस में हैं।

दुनियाभर में टेक्नोलॉजी के शेयर मूल्यों में आए उफान का असर दिख रहा है। भारतीय अरबपतियों में आईटी के दिग्गजों की संपत्ति 2016 के 2.17 लाख करोड़ रुपए से बढ़कर अब 6.8 लाख करोड़ रुपए हो गई है। इनमें विदेशों में बसे भारतीय शामिल हैं। हुुरुन के अनस रहमान जुनैद कहते हैं, इनकी संख्या बढ़ने की संभावना है क्योंकि एक अरब डॉलर से अधिक मूल्य की कंपनियां शेयर बाजार में आएंगी। एक अरब डॉलर मूल्य की ऐसी 100 कंपनियों में से दो तिहाई कंपनियां अमेरिका में हैं।

70 शहरों में हैं अरबपति
सभी भारतीय अरबपति आंत्रप्रेन्योर नहीं हैं। विदेशों में कई प्रोफेशनल भारतीय मैनेजर दूसरों की कंपनियां चला रहे हैं। 2020 में 41 विदेशी शहरों में एक हजार करोड़ रुपए से अधिक संपत्ति वाले भारतीय रह रहे थे। यह संख्या पांच साल पहले केवल 14 थी। भारत में अरबपतियों की संख्या मुंबई के बाद चेन्नई, हैदराबाद जैसे स्थानों में बढ़ रही है। वे देश के 70 शहरों में हैं। 2018 में यह संख्या 28 थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें