पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

द इकोनॉमिस्ट:पढ़िए, द इकोनॉमिस्ट की चुनिंदा स्टोरीज सिर्फ एक क्लिक पर

16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

1. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने चीन के खिलाफ डोनाल्ड ट्रम्प से अधिक कठोर रुख अपनाया है। वे चीन के खिलाफ रणनीतिक ढांचा बना रहे हैं। उन्होंने, टेक्नोलॉजी,इनोवेशन और इंफ्रास्ट्रक्चर में चीन का मुकाबला करने के लिए 150 लाख करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट मंजूर किए हैं। वे अमेरिका की ताकत और प्रभाव को बढ़ाने पर ध्यान दे रहे हैं। क्या है दुनिया के लिए चीन-अमेरिका की इस होड़ के मायने, जानने के लिए पढ़ें पूरा लेख...

चीन के खिलाफ बाइडेन का कड़ा रुख; प्रभाव कम करने की रणनीति, 150 लाख करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट

2. 23 जुलाई से होने वाले टोक्यो ओलिंपिक खेलों में ताकत बढ़ाने वाली दवाइयों (डोपिंग) की जांच के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। हालांकि, नई टेक्नोलॉजी और कड़े नियमों के कारण पहले के मुकाबले डोपिंग कठिन हो गई है। लेकिन, 11 हजार एथलीटों में सैकड़ों एथलीट धोखाधड़ी कर सकते हैं। पिछले कुछ वर्षों में खिलाड़ियों के सर्वे के आधार पर अनुमान है कि टोक्यो खेलों में 10% से लेकर 40% तक एथलीट डोपिंग कर सकते हैं। कैसे डोपिंग बन सकती है चुनौती, जानने के लिए पढ़ें पूरा लेख...

टोक्यो ओलिंपिक में 10 से 40 फीसदी एथलीट धोखाधड़ी कर सकते हैं, उत्तेजक और शक्तिवर्धक दवाइयों का इस्तेमाल नहीं रुकने से समस्या बढ़ी

3. 11 जुलाई को वर्जिन गैलेक्टिक कंपनी के प्रमुख रिचर्ड ब्रैनसन की अंतरिक्ष के दरवाजे पर दस्तक के साथ इस इंडस्ट्री में संभावनाओं के नए दरवाजे खुले हैं। 20 जुलाई को अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस भी अपनी कंपनी ब्लू ओरिजन के स्पेसक्राफ्ट से स्पेस की सैर करेंगे। हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के मैथ्यू वीनजिएरिल कहते हैं, पहली बार समृद्ध कंपनियों ने स्पेस टूरिज्म के विकास को बड़े पैमाने पर हाथ में लिया है। कितना बड़ा है स्पेस टूरिज्म का बाजार, जानने के लिए पढ़ें पूरा लेख...

बीस साल में इंडस्ट्री से 74 लाख करोड़ रुपए की आय का अनुमान

खबरें और भी हैं...