पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Magazine
  • Economist
  • The Impact Of The Delta Variant On The Economies Of Large Countries, The Change In The Effect Of The Virus Also Affected The Consumer Spending 5 September 2021

महामारी में महंगाई:डेल्टा वैरिएंट का बड़े देशों की अर्थव्यवस्था पर असर, वायरस के प्रभाव में बदलाव से कंज्यूमर खर्च पर भी असर आया

19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वरूप बदलने के साथ वायरस के प्रभाव में भी बदलाव आया, कंज्यूमर खर्च घटा

यह विश्व की अर्थव्यवस्था के लिए असुविधाजनक आश्चर्यों का समय है। अमेरिका, यूरोप और चीन का विकास निवेशकों की उम्मीदों के मुकाबले धीमी गति से हो रहा है। खासतौर से अमेरिका में उपभोक्ता मूल्य तेजी से बढ़े हैं। कम महंगाई वाले यूरोपियन यूनियन क्षेत्र में भी अगस्त में मूल्य पिछले साल की तुलना में 3% अधिक रहे। ये दस साल में सबसे अधिक हैं। जरूरी पुर्जों और कामगारों की कमी, जहाजों से खर्चीली माल ढुलाई और घबराहट में लागू लॉकडाउन उपायों ने अर्थव्यवस्थाओं को प्रभावित किया है।

डेल्टा वैरिएंट भी मौजूदा स्थिति के लिए जिम्मेदार है लेकिन महामारी के अर्थव्यवस्था पर प्रभाव के तरीके में बदलाव आया है। संक्रमण की लहरों से गतिविधि अचानक रुकने के कारण वायरस के विकास दर पर प्रभाव और मूल्य गिरने की दुनिया अभ्यस्त हो चुकी है। इसके उलट डेल्टा महंगाई और बेरोजगारी बढ़ाने वाला साबित हो रहा है। विकास दर पर कम असर पड़ा है।

डेल्टा से अमीर देशों में कंज्यूमर खर्च प्रभावित तो है लेकिन पूरी तरह ध्वस्त नहीं हुआ है। अधिक वैक्सीनेशन वाले देशों में संक्रमण से कंज्यूमर की आवाजाही पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है। डेल्टा की लहर के बीच यूरोप का सर्विस सेक्टर फिर खुल गया है। जापान में इमर्जेंसी के बावजूद ग्राहक दुकानों से दूर नहीं हुए हैं। अलबत्ता आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड में लॉकडाउन की वजह से मंदी आ गई है। चीन में सर्विस सेक्टर सिकुड़ रहा है। डेल्टा के प्रसार से सामान की ग्लोबल सप्लाई में बाधा पड़ी है। दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में वैक्सीनेशन की कम दर से कारखानों में उत्पादन और सप्लाई नेटवर्क अस्त-व्यस्त है।

सर्विस सेक्टर का महत्व
अब सर्विस सेक्टर के जरिये ही तेज विकास का रास्ता खुल सकता है। वर्ष की दूसरी तिमाही में अमेरिकी परिवारों में सेवाओं पर खर्च 2019 के मुकाबले 3% कम रहा। अगर डेल्टा ने मनोरंजन और हॉस्पिटैलिटी जैसी सेवा इंडस्ट्री को प्रभावित किया तो सरकार की और अधिक सहायता से महंगाई बढ़ेगी। संक्रमण के मामलों, जनता की आवाजाही और सर्विस सेक्टर में बढ़ोतरी के बीच कमजोर संबंध होने से लॉकडाउन महंगा साबित होगा।

खबरें और भी हैं...