पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Magazine
  • Economist
  • Vaccination Of 60% Of The Population Will End The Epidemic, Rs 3.62 Lakh Crore Will Be Spent On The Scheme 30 May 2021

सुकून भरी खबर:60 फीसदी आबादी के वैक्सीनेशन से महामारी का खात्मा, योजना पर 3.62 लाख करोड़ रुपए खर्च होंगे

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो अर्थशास्त्रियों का प्रस्ताव, योजना पर 3.62 लाख करोड़ रु. खर्च होंगे

कोरोना वायरस महामारी पर नियंत्रण का सबसे अच्छा उपाय क्या हो सकता है। दुनियाभर में विशेषज्ञ इस सवाल का जवाब खोजने की कोशिश में लगे हैं। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्व बैंक का तर्क है कि हर देश की 60% आबादी को वैक्सीन लगाकर अगले साल की शुरुआत में महामारी के गंभीर दौर को खत्म करना संभव है। लाइफ साइंस डेटा कंपनी एयरफिनिटी के अनुसार वैक्सीन निर्माता इस वर्ष 11.1 अरब डोज बना सकते हैं।

यह विश्व की पांच साल से अधिक आयु की 75% जनसंख्या को टीका लगाने के लिए काफी है। विशेषज्ञों का प्रस्ताव है कि 3.62 लाख करोड़ रुपए के खर्च से महामारी की विदाई संभव है। अग्रवाल और रीड ने हिसाब लगाया है कि अमीर देशों ने दो अरब कोर्स के लिए अग्रिम ऑर्डर दिए हैं। कई कोर्स में वैक्सीन की दो डोज रहती हैं। दोनों विशेषज्ञों का अनुमान है, ढाई अरब आबादी वाले 91 विकासशील देशों को अपनी 60% अाबादी को वैक्सीन लगाने के लिए केवल 35 करोड़ कोर्स की जरूरत होगी। भारत के पास वैक्सीन की बहुत अधिक कमी है। लेकिन, लक्ष्य तक पहुंचने के लिए उसके पास पैसा और घरेलू वैक्सीन निर्माण क्षमता है।

रुचिर अग्रवाल और आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने कोविड-19 महामारी खात्मे के लिए 3.62 लाख करोड़ रुपए का व्यापक प्रस्ताव तैयार किया है। केवल 28985 करोड़ रुपए की जरुरत 35 करोड़ अतिरिक्त वैक्सीन कोर्स के लिए पड़ेगी। बाकी पैसा लोगों को वैक्सीन लगाने, वायरस के नए वेरिएंट पर नजर रखने, टेस्टिंग के विस्तार, इलाज और एक अरब डोज की वैक्सीन क्षमता के निर्माण पर खर्च करने का प्रस्ताव है।

ग्लोबल जीडीपी में 57 लाख करोड़ रुपए जुड़ने का अनुमान
आईएमएफ के अनुसार महामारी का अंत जल्द होने से अगले कुछ वर्षों में ग्लोबल जीडीपी में 57 लाख करोड़ रुपए जुड़ेंगे। अमीर देशों को सात लाख करोड़ रुपए का टैक्स अधिक मिलेगा। अर्थशास्त्रियों का कहना है,इस प्रस्ताव में पैसा लगाना संभवत: अब तक का सबसे बेहतर निवेश साबित हो सकता है।

खबरें और भी हैं...