• Hindi News
  • Magazine
  • Economist
  • YouTube Is Not Good For Children, Now The Emphasis Of Streaming Companies On Kid Shows, Their Demand Increased By 60%

एंटरटेनमेंट:यूट्यूब बच्चों के लिए ठीक नहीं, स्ट्रीमिंग कंपनियों का जोर अब किड शो पर, इनकी मांग 60% बढ़ी

16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डिज्नी, नेटफ्लिक्स, पैरामाउंट ने बच्चों के कंटेंट पर करोड़ों रुपए लगाए
  • वहीं अन्य जोनर की फिल्मों-शो की मांग 1 साल में सिर्फ 23% बढ़ी

महामारी का दौर बच्चों और किशोरों के पैंरेंट्स पर भारी पड़ा है। स्कूल बंद होने की वजह से उन्हें अपने काम के साथ बच्चों पर भी नजर रखनी पड़ी। वैसे, उन्हें सोशल मीडिया, फिल्मों और वीडियो के माध्यम से राहत मिली है। डेटा फर्म पैरट एनालिटिक्स की स्टडी में पाया गया कि अमेरिका में 2020 से सितंबर 2021 तक फिल्मों की सर्च साइट आईएमडीबी पर बच्चों के शो की मांग 60% बढ़ गई। इस अवधि में अन्य जोनर की फिल्मों,वीडियो की मांग में 23% बढ़ोतरी हुई है। इसके साथ सोशल मीडिया कंटेंट को लेकर माता-पिता की चिंता में इजाफा हुआ है।

प्यू के ताजा सर्वे के अनुसार करीब आधे पैरेंट्स ने कहा कि कि युवाओं के बीच सबसे अधिक लोकप्रिय यूट्यूब का कंटेंट बच्चों के लिए ठीक नहीं है। कई लोग टिकटॉक जैसे एप के कंटेंट को नुकसान देह मानते हैं। आने वाले दिनों में बच्चों को आपत्तिजनक कंटेट से मुक्ति मिल सकती है। कई स्ट्रीमिंग कंपनियों ने बच्चों पर केंद्रित फिल्में और शो बनाने की तैयारियां की हैं। सिर्फ बड़ी कंपनियां ही नहीं, छोटी कंपनियां भी इस क्षेत्र में आगे बढ़ी हैं। बच्चों के शो के लिए मशहूर किडूडल टीवी के डाउनलोड महामारी में बड़ी संख्या में बढ़े हैं। कोकोमेलॉन और ब्लिपी जैसे हिट कार्यक्रम बनाने वाली मूनबग एंटरटेनमेंट कंपनी को डिज्नी के दो पूर्व अधिकारी 22 हजार करोड़ रुपए में खरीदने के लिए तैयार हैं।

वयस्कों के मुकाबले बच्चों के शो से ज्यादा फायदा

ऑकलैंड यूनिवर्सिटी के एरिन मेयर्स का कहना है, कई कारणों से स्ट्रीमिंग कंपनियों का झुकाव बच्चों, किशोरों के कार्यक्रमों की ओर बढ़ा है। वयस्कों के कार्यक्रमों के मुकाबले बच्चों के टेलीविजन शो खासकर एनिमेटिड फिल्मों का निर्माण सस्ता पड़ता है। उनकी लोकप्रियता का समय भी ज्यादा रहता है क्योंकि वयस्क दर्शकों की तुलना में बच्चे अपने शो लंबे समय तक देखते हैं। वयस्क किसी भी समय कार्यक्रम से नाता तोड़ लेते हैं। इसके अलावा बच्चों के कार्यक्रमों से अन्य व्यावसायिक फायदे जुड़े हैं। कार्यक्रमों के नाम पर बच्चों के टॉय, कपड़े और गेम्स की बिक्री होती है।

बच्चों के लिए एंटरटेनमेंट कंपनियां क्या कर रही है?

डिज्नी : नए सिरे से योजना बना रही कंपनी
बच्चों के सबसे पसंदीदा ब्रांड डिज्नी ने बच्चों के कंटेंट पर और अधिक ध्यान देने के लिए नए सिरे से योजना बनाई है। पैरामाउंट प्लस अपने निकेलोडिऑन कार्यक्रमों का पैरेंट्स के बीच प्रचार कर रहा है।
वायकॉम : 2200 करोड़ रु. में खरीदेगा शो
वायकॉम सीबीएस- एल्विन एंड चिपमंक्स शो 2200 करोड़ रुपए में खरीदने के लिए उसके निर्माताओं से बातचीत कर रही है। वहीं वयस्कों के मसालेदार,रोमांचक कार्यक्रम बनाने वाले एचबीओ मैक्स ने छोटे बच्चों पर केंद्रित पोर्टल कार्टूनिटो लान्च किया है।
नेटफ्लिक्स : किड्स क्लिप्स शुरू किया
वहीं सितंबर में नेटफ्लिक्स ने रोनाल्ड डेहल स्टोरी कंपनी को लोकप्रिय लेखक की कहानी के अधिकार खरीदने के लिए पांच हजार करोड़ रुपए से अधिक दिए हैं। रोनाल्ड डेहल ने चार्ली एंड चॉकलेट फैक्टरी जैसी चर्चित कहानियां लिखी हैं। कंपनी ने नवंबर में बच्चों के कार्यक्रमों पर छोटे वीडियो शो- किड्स क्लिप्स की शुरुआत की है।

खबरें और भी हैं...