पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लेसन्स फ्रॉम ग्रेट थिंकर्स:जब तक मांगी ना जाए, सलाह नहीं देना चाहिए -  डेसिडेरियस इरेज़मस

12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डेसिडेरियस इरेज़मस डच ईसाई ह्यूमैनिस्ट। इन्हें इरेज़मस ऑफ रॉटरडैम भी कहा गया। उत्तरी नवयुग के महान विद्वान भी माने जाते थे। शुद्ध लैटिन शैली में लिखते थे। उनके कुछ विचार...

1. सबसे पहले सर्वश्रेष्ठ किताबें पढ़ें। जरूरी ये नहीं कि आप कितना जानते हैं, ज्ञान की गुणवत्ता महत्वपूर्ण है।

2. आदमी जो है, हमेशा वही बना रहना चाहता है।

3. गुप्त रखा गया हुनर कभी प्रतिष्ठा नहीं दे सकता।

4. यह सत्य है - भाग्य हमेशा साहसी का साथ देता है।

5. लड़ाई उनके लिए अच्छी है जिन्होंने इसका स्वाद नहीं चखा।

6. कोई भी प्राणी मानव से ज्यादा खराब नहीं था, अन्य प्राणी प्रकृति द्वारा रचे गए स्वभाव से संतुष्ट रहते हैं, केवल मनुष्य ही इससे आगे बढ़ने के प्रयास करता है।

7. मनुष्य का दिमाग इस तरह बना है कि वो सच के मुकाबले झूठ की तरफ ज्यादा झुकता है।

8. जब तक मांगी न जाए, सलाह नहीं देनी चाहिए।

9. सोने से पहले कुछ ऐसा पढ़ें जो उत्कृष्ट हो और जिसे दिमाग हमेशा याद रखना चाहे।

10. जब बहस करके तर्क न दिया जा सके तो उसे हंसी में उड़ा दिया जाता है।

11. रोशनी दीजिए तो अंधकार अपने आप दूर हो जाएगा।

12. कुछ भी नहीं जानना खुशी से पूर्ण जीवन है।

13. जिस तरह एक कील को दूसरी कील ही निकालती है, उसी तरह एक आदत को दूसरी आदत ही बदल सकती है।

14. ज्यादातर लोग लड़ाई पसंद नहीं करते और शांति की कामना करते हैं, केवल कुछ ही हैं जो लड़ाई की चाह रखते हैं। इन्हें अपने आसपास दरिद्रता देखकर ही खुशी मिलती है।

15. किसी भी राष्ट्र की उम्मीदें युवाओं की अच्छी शिक्षा से जुड़ी होती हैं।

खबरें और भी हैं...