सेल्फ हेल्प:दूसरों को प्रेम देने की क्षमता भी बढ़ाएं

20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • किताबों से जानिए, कैसे दूसरों को खुश रखकर अपनी तकलीफों को कम किया जा सकता है, क्यों आपका मानसिक नजरिया जीवन को आकार देने में खास रोल अदा करता है?

दु:ख का सर्वश्रेष्ठ इलाज है दूसरों को खुश रखना
प्रेम केवल बांटने से बढ़ता है। आप इसे देकर ही अपने लिए प्रेम हासिल कर सकते हैं। आप जितना प्रेम व्यक्त करते हैं, उतना प्रेम आपको मिलता है। प्रेम ऐसी चीज है, जिसकी पहल आप करते हैं। अगर आप प्रेम देते हैं तो आपको उसे पाने में दिक्कत नहीं होगी। इसलिए ये आपकी जिम्मेदारी है कि आप लोगों के प्रति प्रेम और दयालुता व्यक्त करने की अपनी क्षमता बढ़ाएं। (द पावर ऑफ पॉजिटिव थिंकिंग)

मानसिक नजरिया ही जीवन को आकार देता है
आपका मानसिक नजरिया ही आपके जीवन को आकार देता है। हर चीज को रचनात्मक तरीके से देखने की आदत डालें। शंका और अनिश्चितता से जीवन को नहीं देखना चाहिए। यह विश्वास करने की आदत डालें कि आपके साथ सर्वश्रेष्ठ ही होगा। समृद्धि की शुरुआत मन में होती है। अभाव और संभावित अपमान के डर से लोग मनपसंद चीजें हासिल नहीं कर पाते हैं। (द आर्ट ऑफ थिंकिंग क्लीअरली)

व्यस्त रहेंगे तो नाखुश होने का समय नहीं होगा
आप सबको खुश नहीं कर सकते। आलोचना को खुद पर हावी न होने दें। वह करें जिसे करने में आनंद आता है। वास्तविकता से ज्यादा कठिन काल्पनिक चीजों को झेलना है। गुस्से को ना पालें। उन लोगों से दूर रहें जो आपको नाखुश करते हैं। कई रुचियां रखें। हमेशा किसी चीज में व्यस्त रहें। एक व्यस्त इंसान के पास नाखुश होने का समय ही नहीं होता है। (यू कैन हील योर लाइफ)

बुराई के बदले भलाई ही बदलाव लाएगी
कुछ लोग मुश्किल होते हैं। जब ऐसे लोगों से पाला पड़े तो क्या करें? प्रलोभन यह होता है कि आप उनकी ऊर्जा उन्हीं की ओर नापसंदगी के रूप में लौटा दें। लेकिन इससे आपके जीवन पर बुरे प्रभाव पड़ेंगे। तो बुराई के बदले भलाई की कोशिश करें। आपकी समझ उन्हें बदलने की प्रक्रिया को गतिमान कर देगी। (द पावर ऑफ पॉजिटिव थिंकिंग)

खबरें और भी हैं...