सेल्फ हेल्प:अपनी योग्यता पर भरोसा करना भी साहस ही है

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किताबों से जानिए कि कैसे हिम्मत से इरादे मजबूत होते हैं और कैसे आपके हाव-भाव आपकी भावनाएं व्यक्त कर देते हैं। चार किताबों से जानिए चार ज्ञान की बातें...

साहस से ही मजबूत इरादे बन सकते हैं

अपनी योग्यता पर विश्वास करना ही साहस है। आपका अपने आप में विश्वास ही आपके सपनों को हकीकत में बदलता है। साहस विपरीत परिस्थितियों का मुकाबला करना सिखाता है। भय से मुकाबला ही साहस है। साहस से ही पता चलता है कि अब एक मजबूत इरादा बनाना है। (पावर ऑफ पॉजिटिव थिंकिंग)

शारीरिक हाव-भाव भावनाएं दिखाते हैं

जिस तरह एक तस्वीर में हजारों शब्द छिपे होते हैं उसी तरह आपके शारीरिक हाव-भाव बहुत कुछ कहते हैं। कई बार आप हाव-भाव के जरिए मन में छिपी सच्ची भावनाएं भी दिखा देते हैं। आप जिस तरह बात करते हैं या चलते हैं, दुनिया को अपने बारे में बहुत सारी जानकारियां देते हैं। (विनिंग बॉडी लैंग्वेज)

एक की प्रशंसा से कई प्रोत्साहित होंगे

दूसरों की प्रशंसा पाने में खुशी मिलती है। यदि आप लोगों के कार्य की प्रशंसा करते हैं तो आप उन्हें ज्यादा काम करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। विशिष्ट कार्यों की प्रशंसा करें। लोगों को बताएं कि उन्होंने जो काम किया वो क्यों अच्छा था। एक की प्रशंसा करने से कई लोग प्रोत्साहित होंगे। (इन्फ्लूएंस)

माफ करने से मन को शांति मिलती है

लोगों को लगता है कि माफ करके वो व्यक्ति के उस गलत व्यवहार को मान्यता देते हैं, जो उनकी नाराजगी का कारण था। वो सोचते हैं माफ करके उसे समर्थन दे रहे हैं। दरअसल माफ करना तो बहुत ही स्वार्थी काम है। इसका वास्ता आपके अपने मानसिक संतुलन और मन की शांति से होता है। (यू कैन हील यॉर सेल्फ)

खबरें और भी हैं...