सेल्फ हेल्प:जीवन में ‘उठो और आगे बढ़ो’ का मंत्र अपनाते चलें

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किताबों से जानिये, क्यों काम करते रहना हमेशा अच्छा होता है और क्यों लोग अपेक्षाओं के आधार पर ही एक-दूसरे का मूल्यांकन करते हैं...

काम नहीं करने से हमेशा बेहतर है काम करना
शोध बताते हैं कि काम करने से दिमाग स्वस्थ और सक्रिय रहता है। काम आपको लोगों से मिलने-जुलने का मौका देता है। हर दिन नई चुनौती का सामना करने का अवसर देता है। काम नहीं करने से हमेशा बेहतर है काम करना। जो सफल हैं वो ‘उठो और आगे बढ़ो’ का रवैया अपनाते चलते हैं।(रिवाइविंग वर्क एथिक्स)

अपेक्षाओं के आधार पर लोग मूल्यांकन करते हैं
लोग अपेक्षाओं के आधार पर ही एक-दूसरे का मूल्यांकन करते हैं। अगर उन्हें ऐसा लगता है कि उनकी मूलभूत अपेक्षाओं की उपेक्षा हो रही है, तो विश्वास कम हो जाता है। अपेक्षाओं को स्पष्ट करने के लिए हिम्मत चाहिए। फिर उन्हें पूरा करने के लिए मिलकर काम किया जा सकता है।(मास्टर योर इमोशंस)

निर्णय लेने से पहले नतीजों पर गौर कर लें
अक्सर हम निर्णय तो ले लेते हैं, लेकिन नतीजों से परेशान होते हैं। इसलिए कोई निर्णय लेने से पहले जरूरी है आप नतीजों पर गौर कर लें। प्लानिंग करके ही आगे आने वाली समस्याओं से लड़ने के लिए आप तैयार हो सकते हैं। समस्याएं तो आती रहेंगी पर खुद पर भरोसा होना बहुत जरूरी है। (डिसाइसिव)

आत्म-अनुशासन की अहमियत को समझिए
जो लोग जीवन में अपने मन की पसंद और सुविधा के अनुसार चलते हैं वो कभी कुछ हासिल नहीं कर पाते। यहीं आत्म-अनुशासन की अहमियत समझ में आती है। एक बार तय कर लिया कि आज ये काम करना है, तो फिर कर ही डालना चाहिए। काम को टालने से बचना बहुत जरूरी है। (डु इट टुडे)

खबरें और भी हैं...